यूपी में स्वास्थ्य सेवाएं ठप्प, फर्रुखाबाद में ऑक्सीजन की कमी से 49 बच्चों की मौत, सरकार गाय पालने में मस्त !

0
67

यूपी में स्वास्थ्य सेवाएं ठप्प, फर्रुखाबाद में ऑक्सीजन की कमी से 49 बच्चों की मौत, प्रदेश की योगी सरकार गाय पालने में मस्त !

 

फर्रुखाबाद, गोरखपुर में बाबा राघव दास मेडिकल कॉलेज में लगातार हो रही बच्चों की मौतों का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। तो दूसरी तरफ यूपी के ही दूसरे जिले से दिल दहला देने वाली खबर आ रही है। जानकारी के अनुसार अस्पताल में बच्चों के इलाज के दौरान ऑक्सीजन की कमी के चलते पिछले 1 महीने में डॉ. राममनोहर लोहिया जिला अस्पताल में 49 नवजात बच्चों की मौत हो गई है। इस मामले में नगर मजिस्ट्रेट ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी व मुख्य चिकित्सा अधीक्षक के खिलाफ शहर कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई है।

जानकारी के अनुसार 21 जुलाई से 20 अगस्त के बीच डॉ. राममनोहर लोहिया जिला अस्पताल के एसएनसीयू वार्ड में 30 बच्चों और डिलीवरी रूम में 19 बच्चों की मौत का मामला सामने आया था। इस घटना की जांच रिपोर्ट में आक्सीजन की कमी होने की बात सामने आई है। इस दौरान आक्सीजन के कारण हुई बच्चों की मौत से विभाग में हड़कंप मच गया। जिलाधिकारी रविंद्र कुमार के आदेश पर सिटी मजिस्ट्रेट जेके जैन ने मुख्य चिकित्साधिकारी और महिला सीएमएस के खिलाफ बच्चों के इलाज में लापरवाही और समय पर सूचना न देने की रिपोर्ट दर्ज कराई।

30 अगस्त को जिलाधिकारी ने एसएनसीयू वार्ड का निरीक्षण किया था। इस दौरान डीएम ने नवजात शिशुओं के बारे में जानकारी ली थी। निरीक्षण के दौरान उन्हें बताया गया कि 20 जुलाई से 20 अगस्त के बीच 49 शिशुओं की मौत बीमारी के चलते हुई, जबकि मृतक शिशुओं के परिजनों ने ऑक्सीजन की कमी से बच्चों की मौत होने का आरोप लगाया था। परिजनों की शिकायत पर आधार पर जिलाधिकारी के आदेश पर सिटी मजिस्ट्रेट, एसडीएम सदर, तहसीलदार सदर की टीम ने पूरे मामले की जांच की।

जिलाधिकारी के आदेश पर हुई जांच में सामने आया कि बच्चों की मौत बीमारी से नहीं बल्कि आक्सीजन की कमी के कारण हुई थी। जांच रिपोर्ट आने के बाद जिलाधिकारी रविंद्र कुमार ने कहा कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा। जिलाधिकारी ने यह भी कहा कि ऑक्सीजन की कमी किन कारणों से हुई है, इसकी विस्तृत जांच कराई जाएगी।

 

Loading...