भाजपा (ABVP) की चौतरफा बुरी हार, दिल्ली, पंजाब, गुवाहाटी के बाद उत्तराखंड में भी सूपड़ा साफ !

0
76

ABVP की चौतरफा हार क्या भाजपा के मिशन 2019 के लिए खतरे की घंटी है ?

दिल्ली की JNU यूनिवर्सिटी से शुरू हुआ भाजपा के छात्र संगठन ABVP की हार का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है एक एक कर के सभी राज्यों में उसे हार का सामना करना पड़ रहा है। दिल्ली में JNU के बाद DU में भी ABVP को हार का सामना करना। उसके साथ ही पंजाब और गुवाहाटी में भी हुए छात्र संघ के चुनावों में भी भाजपा के छात्र संगठन को हार का सामना करना पड़ा। अब उत्तराखंड से भी भाजपा के लिए बुरी खबर आ रही है।

उत्तराखंड में हुए छात्र संघ चुनावों में भी भाजपा के छात्र संगठन को हार का सामना करना पड़ा। यहां के हेमवती नंदन बहुगुणा केंद्रीय गढ़वाल विश्वविद्यालय में ABVP को इस बार हार का सामना करना पड़ा, जबकि प्रदेश में भाजपा की सरकार है। ऐसे में भाजपा समर्थित छात्र इकाई अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की हार भाजपा के लिए खतरे की घंटी है।

इस बार गढ़वाल विश्वविद्यालय के छात्रसंघ चुनाव में छात्रों के गैर राजनीतिक संगठन जय हाउस के उम्मीदवार प्रदीप पंवार ने ABVP के उम्मीदवार को बुरी तरह हराया। हेमवती नंदन बहुगुणा केंद्रीय गढ़वाल विश्वविद्यालय उत्तराखंड के छात्रसंघ के चुनाव की सबसे बड़ी धुरी है। इसका व्यापक असर प्रदेश की राजनीति में भी पड़ता है। गढ़वाल विश्वविद्यालय के तहत गढ़वाल मंडल में 45 महाविद्यालय आते हैं।

प्रदेश के गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय में छात्र संघ के चुनाव में इस बार एबीवीपी की फूट खुलकर सामने आई। यहां भी ABVP के उम्मीदवारों को बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा। निर्दलीय उम्मीदवारों का दबदबा रहा। गुरुकुल कांगड़ी विश्वविद्यालय में ABVP के उम्मीदवार तरुण चौहान को एकतरफा शिकस्त देते हुए निर्दलीय उम्मीद विक्रम भुल्लर ने 835 वोटों से जीत हासिल की। सचिव पद पर भी निर्दलीय उम्मीदवार सिद्धार्थ कुमार ने ABVP उम्मीदवार को हराया।

गुरुकुल कांगड़ी के छात्र संघ के चुनाव में ABVP के हारे उम्मीदवारों ने हार का ठीकरा भाजपा के हरिद्वार ग्रामीण क्षेत्र के विधायक स्वामी यतिश्वरानंद के सिर पर फोड़ा। गुस्साए ABVP के समर्थक छात्रों ने भाजपा विधायक के आवास वेद मंदिर में हमला बोल दिया और विधायक के समर्थकों की जमकर पिटाई की। साथ ही विधायक का पुतला भी फूंका और भाजपा विधायक के आवास पर जमकर तोड़फोड़ की। भाजपा विधायक स्वामी यतिश्वरानंद पर भी हमला बोला।

भाजपा (ABVP) के आए बुरे दिन – अध्यक्ष पद पर विपिन यादव की जीत, ABVP प्रत्याशी की बुरी हार !

Loading...