जो भाजपा, मोदी और योगी न कर पाए, अखिलेश ने कर दिखाया, आरएसएस गैंग में आया भूचाल !

0
12

लखनऊ, भगवान् राम के नाम पर राजनीति करने वाली भारतीय जनता पार्टी और आरएसएस गैंग को इस खबर से मिर्च लग सकती है। दरअसल 1992 में बाबरी मस्जिद ढाहने के बाद से देश की जनता को राम मंदिर का लॉलीपॉप दे रही भाजपा आजतक न तो मंदिर बनवा पायी और और न ही एक ईंट लगवा पायी और सबसे बड़ी बात आज तक भगवान राम की एक भी मूर्ति तक नहीं लगवा पाई है।

अब जो खबर आ रही है उसके अनुसार उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने भाजपा आरएसएस मोदी और योगी को झटका देते हुए वो काम कर दिया जिसकी भाजपा एंड आरएसएस गैंग ने कल्पना भी नहीं की होगी। अखिलेश यादव और उनके पिता मुलायम सिंह यादव पर मुस्लिम तुष्टिकरण करने का आरोप लगाने वाली भाजपा आरएसएस मोदी और योगी को इस खबर ने हिलाकर रख दिया है।

अखिलेश यादव द्वारा सैफई में हिन्दुओं की आस्था के सबसे बड़े केंद्र भगवान श्री कृष्ण की विशालकाय मूर्ति स्थापित करवाई जा रही है। इस मूर्ति का वजन करीब 50 टन है और ये कांसे से बनी हुई है। इस मूर्ति में में भगवान श्री कृष्ण अपने हाथ में रथ का पहिया लिए हुए हैं। भगवान् श्री कृष्ण की यह मूर्ति मेड इन इंडिया है। सरदार पटेल और शिवा जी के स्टेचू की तरह चाइना से बनकर नहीं आ रही है।

भगवान श्री राम के नाम पर राजनीति करने वाली भाजपा और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जैसे इस बात की भनक लगी आनन् फानन में अयोध्या में भी भगवान श्री राम की मूर्ति की स्थापना की घोषणा कर दी। क्योंकि राम के नाम की राजनीति करने वाली भाजपा हिन्दू वोटरों को अपने पाले में ही रखना चाहती है इसीलिए अखिलेश यादव द्वारा मूर्ति निर्माण की भनक लगते ही अयोध्या में दिवाली और राम मूर्ति लगवाने का खेल किया गया।

भगवान श्री कृष्ण की मूर्ति 50 फुट लंबी है। इसका वजन करीब 60 टन होगा। इसके निर्माण के लिए जापानी स्टेनलेस स्टील और पीतल का प्रयोग किया जा रहा है। इसकी व्लडिंग में भी ख़ास तौर से एयरोप्लेन में लगने वाली टेक्नोलॉजी का प्रयोग किया गया है। यह मूर्ति उस दृश्य को दर्शा रही है जिसमें भगवान कृष्ण रथांग पाणी रूप में हैं। अर्थात महाभारत के दौरान शस्त्र के तौर पर पहली बार उठाये गए रथ का पहिये के रूप में।

Subscribe Our News Channel on Youtube

 

दुनिया के सबसे बड़े कृष्ण मंदिर की CM अखिलेश यादव ने रखी थी नींव, जानें क्या है मंदिर में खास

Loading...