रामराज्य : इलाहाबाद में दबंगों ने महिला को सामूहिक रेप के बाद गाड़ी से फेंका, पैसों से मामला रफा-दफा !

0
270
Loading...

इलाहाबाद, यमुनापार के मेजा इलाके में मंगलवार आधी रात शादी में आए पांच बारातियों ने एक महिला को बोलेरो में खींचकर अगवा करने के बाद बलात्कार किया। दरिंदगी के बाद महिला को गाड़ी से बाहर धकेल वे फरार हो गए। महिला को उसका पति मेजा थाने ले गया। पीड़ित महिला ने पुलिस को भी गैंगरेप की जानकारी दी लेकिन दोपहर में दोनों पक्षों के बीच पैसों का लेनदेन होने पर दूल्हे के भाई पर महज शांतिभंग की कार्रवाई कर मामला रफा-दफा कर दिया गया।

मेजा के नेवढ़िया गांव में मंगलवार रात मिर्जापुर के जिगना इलाके से बारात आई थी। आधी रात द्वारचार और खानपान के बाद तकरीबन 42 वर्षीय महिला अपने घर की तरफ जा रही थी तभी रास्ते में बोलेरो सवार बारातियों ने उस पर छींटाकशी की। विरोध करने पर बारातियों ने महिला को बोलेरो में खींच लिया। गाड़ी में पांच लोग मौजूद थे। वह चीखी लेकिन नशे में धुत बाराती बोलेरो को वहां से तेज रफ्तार में ले गए। शादी में आए कुछ लोगों ने बोलेरो में महिला को खींचकर ले जाते देखा तो शोर मचाया। महिला के पति समेत कई लोग तलाश में निकल गए। भोर में महिला गांव से करीब आधा किलोमीटर दूर तालाब के पास घायल बैठी मिली।

योगी सरकार के गुंड़ों का रावण राज्य : भाजपा अध्यक्ष ने थाने में घुसकर दरोगा अमित शर्मा को पीटा !

उसने बताया कि बलात्कार के बाद बाराती उसे बोलेरो से धकेलकर फरार हो गए हैं। 100 नंबर पर घटना की सूचना दी गई तो पुलिस वहां पहुंची। महिला को थाने ले जाया गया। उसने प्रभारी थानाध्यक्ष स्वास्तिक द्विवेदी को भी गैंगरेप की जानकारी दी। मगर दोपहर होने तक में उसने बयान बदल दिया और केस भी नहीं दर्ज कराया। सीओ रविशंकर प्रसाद के मुताबिक, महिला ने पहले रेप की शिकायत की थी फिर दोनों पक्षों के बीच बातचीत के बाद उसने कह दिया कि वह केस नहीं दर्ज कराना चाहती है। पुलिस ने दूल्हे के भाई केशव पर शांति भंग की आशंका में कार्रवाई की है। रेप का केस नहीं लिखे जाने से दुराचारियों की तलाश नहीं हो रही। थाने में मौजूद रहे पुलिसकर्मियों ने बताया कि दोनों पक्षों की तरफ से समझौते का दबाव बनाकर महिला को पैसे देकर चुप करा दिया गया इसलिए उसने तहरीर नहीं दी।