योगी के रामराज में सांप्रदायिक तनाव से फिर सुलगा बागी “बलिया”, 22 लोग गिरफ्तार !

0
540

 

बलिया : यूपी की योगी सरकार में अब दंगों का भी रिकॉर्ड टूट चूका है,जहाँ इस सरकार के शुरूआती 45 दिन में रिकॉर्ड 22 दंगे हुए थे। वहीँ बलिया जिले में सिकंदरपुर कस्बे में 10 ‌द‌िन पहले हुए सांप्रदायिक तनाव से फैली आग अभी ठंडी भी नहीं हुई थी कि बुधवार को गड़वार थाना क्षेत्र के रतसर गांव के बाजार में मंगलवार रात में हुई मारपीट में एक समुदाय के युवक की मौत की अफवाह फैल जाने से आग फिर से सुलग उठी।

अराजकतत्वों ने दर्जनभर दुकानों में तोड़फोड़ कर दो दुकानों में आगजनी और लूटपाट की। मामले में जानबूझकर लापरवाही बरतने पर रतसर चौकी इंचार्ज सुरेंद्र कुमार सिंह को निलंबित कर दिया गया है। वहीं पुलिस ने दोनों पक्षों से 22 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है।

 

बता दें कि मंगलवार की शाम रतसर गांव के पूरबी राजभर बस्ती निवासी एक युवक अपनी मां को साइकल से लेकर घर लौट रहा था। बाजार में पंचायत भवन के समीप बाइक से साइकिल की टक्कर लग गई। इस पर दोनो में विवाद हो गया। बाइक सवार और उसके साथियों ने साइकिल सवार युवक की जमकर पिटाई कर दी। पिटाई की सूचना मिलने पर साइकिल सवार के घरवाले और ग्राम प्रधान के प्रतिनिधि मुक्तानंद सिंह मौके पर पहुंचे। युवक को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र रतसर ले गए, जहां चिकित्सक के न रहने पर उसे जिला चिकित्सालय लाया गया। उधर, घटना के बाद घायल के घरवाले रात में ही तहरीर लेकर रतसर चौकी पर पहुंचे लेकिन पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की।

बुधवार को सुबह करीब दस बजे घायल युवक के परिजन गड़वार थाने पहुंचे जहां उनकी सुनवाई नहीं हुई। इससे खफा होकर उन लोगों ने रतसर गांधी चौराहा के पास सड़क जाम कर दिया। इसी दौरान किसी ने घायल युवक की मौत होने की अफवाह फैला दी। इतना सुनते ही लोग आक्रोशित हो गए और बाजार में उपद्रव शुरू हो गया। दोनों ओर से ईंट पत्थर चलने लगे। उपद्रवियों ने करीब दर्जनभर दुकानों में तोड़फोड़ और दो दुकानों में आगजनी कर लूटपाट भी की।

घटना की सूचना मिलने पर डीएम सुरेंद्र विक्रम और पुलिस अधीक्षक अनिल कुमार फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और स्थिति को काबू में किया। देर शाम तक डीएम, एसपी, एएसपी विजयपाल सिंह समेत पूरा पुलिस एवं प्रशासनिक अमला कस्बे में ही डटा रहा है। गांव में एहतियात के तौर पर पुलिस और पीएसी तैनात कर दी गई है। प्रशासन ने राजनीतिक दलों के लोगों के कस्बे में प्रवेश पर रोक लगा दी है। सोशल मीडिया से लगातार हर तरह की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है।

Loading...