क्या बीजेपी में शामिल होंगी मुलायम सिंह की बहू, अपर्णा यादव बिष्ट ने दिया बीजेपी को लेकर बड़ा बयान

0
43
Loading...

लखनऊ, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज राजधानी में कान्हा उपवन का दौरा किया। उनके साथ सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के छोटे पुत्र प्रतीक यादव व उनकी पत्नी अपर्णा यादव भी मौजूद थे। मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव बिष्ट के आग्रह पर योगी आदित्यनाथ ने कान्हा उपवन जाकर गोशाला देखी।

इनके अलावा वहां पर डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा व नगर विकास मंत्री सुरेश कुमार खन्ना तथा राज्यमंत्री स्वतंत्र प्रभार स्वाति सिंह भी उपस्थित थीं। लेकिन अपर्णा और प्रतीक का भाजपा के प्रति ऐसा रूझान आकर्षण का केंद्र रहा। लोगों में उत्सुकता थी ये जानने के लिए कि क्या दोनों भाजपा ज्वाइन कर नई पारी की शुरुआत करने जा रहे हैं।

जब उनसे बीजेपी ज्वाइन करने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि ”समय इसका जवाब देगा।\” उन्होंने ऐसी खबरों को खारिज किए बिना कहा, ”राजनीति में जो संभावना है वो है। अभी कुछ नहीं कह सकते। सीएम योगी एक पशु प्रेमी है, इसी कारण हमने उन्हें यह जीवाश्रम देखने का न्यौता दिया था। मैं राजनीतिक शिष्टाचार को प्रमोट कर रही हूं। मैं जीवनभर सीएम योगी की आभारी रहूंगी।

अपर्णा यादव ने कहा कि, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मेरे बीफ बयान पर मेरा समर्थन भी किया था। जब वह मुख्यमंत्री नहीं थे तबसे उन्हें पता है कि हम एक गौशाला चलाते हैं। उन्होंने कहा कि, सीएम योगी से उनकी बातचीत होती रहती है।

ये गोशाला लखनऊ के सरोजनीनगर इलाके में हैं. अपर्णा यादव जीव आश्रय करके एक एनजीओ चलाती है। ये एनजीओ अपर्णा पिछले करीब चार सालों से चला रही हैं। एनजीओ की मदद से लावारिश पशु गाय, भैंस और कुत्तों को कान्हा उपवन ले जाया जाता है और वहां इनकी देख रेख होती है।

बता दें कि पिछले हफ्ते ही अपर्णा यादव प्रतीक यादव के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने वीवीआईपी गेस्ट हाऊस पहुंची थी। इस दौरान उन्होंने सीएम योगी को एक गुलदस्ता भी भेंट किया था। हालांकि सीएम के साथ इस मुलाकात को उन्होंने शिष्टाचार मुलाकात बताया था।

आपको बता दें कि भाजपा की तरफ से अपर्णा का यह आकर्षण पहली बार देखने को नहीं मिल रहा है। इसके पहले एक पारिवारिक समारोह में पीएम मोदी के आने पर उन्होंने साथ फोटो ली थी। वहीं यूपी चुनाव के पहले आए दिन वो पीएम मोदी की तारीफ करते दिखायी दे जाती थीं।

Loading...