सरकार जो छुपाए, वही खबर है – बाकी सब प्रोपेगैंडा – बीजेपी नेता अरुण शौरी !

0
120

नई दिल्ली, एनडीटीवी पर पड़े सीबीआई छापों के विरोध में शुक्रवार को दिल्ली प्रेस क्लब में देश के जाने – माने जर्नलिस्ट्स इकट्ठा हुए। वाजपेयी सरकार में मंत्री रहे अरुण शौरी भी बतौर वक्ता शामिल हुए। उन्होंने कहा, “सरकार जो छुपाना चाहे, वही खबर है। बाकी सब प्रोपेगैंडा है।

शौरी ने कहा कि, खबरों को सरकारें दबाना चाहती हैं। आप उन्हें खोद निकालें। जब राजीव गांधी की सरकार मानहानि विधेयक लाई थी, तब मीडिया ने फैसला किया था कि वे प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान हर मंत्री से पूछेंगे कि वह विधेयक का समर्थन करते हैं या नहीं? अगर मंत्री का जवाब ‘हां’ होगा तो जर्नलिस्ट्स प्रेस कॉन्फ्रेंस से बाहर निकल जाएंगे। आप भी इस तरह के बायकॉट को अपने हथियार के तौर पर इस्तेमाल करें।

शौरी ने कहा कि, मौजूदा सरकार विरोध की आवाज कुचलने के लिए एडवर्टिजमेंट की आड़ में प्रेस की आजादी का गला घोंट रही है। ढाई आदमी की इस सरकार के पास सोशल मीडिया की टीम है जो सरकार के खिलाफ कमेंट्स की निगरानी करती है।

उन्होंने कहा, “मैं नरेंद्र मोदीजी का शुक्रिया अदा करना चाहूंगा कि उनकी वजह से आज यहां इतने जर्नलिस्ट इकट्ठा हैं। सरकार की कार्रवाई पर यही कहना चाहूंगा – तुझसे पहले जो यहां तख्तनशीं था… उसको भी अपने खुदा होने का उतना ही यकीं था। … राम गयो…रावण गयो…ताको बहु परिवार… ये भी (मौजूदा सरकार) जाएंगे।

शौरी ने कहा, एक नए दौर की शुरुआत हुई है। सरकार तीन तरह से काम कर रही है। एक तरफ वह मीडिया की आवाज दबा रही है। वह विज्ञापन देकर मीडिया का मुंह बंद कर रही है। दूसरी तरफ, वह मीडिया के बीच डर फैलाकर उसे काबू में करने की कोशिश कर रही है। तीसरा, वह खुलकर दबाव डाल रही है। एनडीटीवी के साथ यही हुआ है। हो सकता है कि आने वाले सालों में यह चीजें बढ़ जाएं। हालांकि, जिस किसी ने भी भारत में प्रेस पर हाथ डालने की कोशिश की, वो अपने हाथ जला बैठा। एनडीटीवी द्वारा दिए गए तथ्‍यों का सीबीआई जवाब तक नहीं दे पा रही है।

Loading...