सीएम आवास के सामने महिला ने परिवार संग की आत्मदाह की कोशिश,BJP विधायक को बताया बलात्कारी !

0
1

 

देखें VIDEO- भाजपा विधायक पर लगे बलात्कार जैसे संगीन आरोप को सीएम योगी ने किया अनसुना, तो पीड़ित ने मौत का रास्ता चुना !

उन्नाव : यूपी की योगी सरकार में भाजपा विधायकों और नेताओं की गुंडई चरम पर है, जिसके कारण आज प्रदेश में जंगलराज जैसे हालात हैं। वहीँ लखनऊ में हुए आज के हाई प्रोफाइल घटनाक्रम ने भाजपा नेताओं और विधायकों का आपराधिक चेहरा उजागर किया है। भाजपा विधायक पर लगे बलात्कार के इस संगीन आरोप के मामले ने मुख्यमंत्री योगी के साथ पूरी भाजपा को असहज स्थिति में ड़ाल दिया है। ये आरोप मुख्यमंत्री योगी के लिए और भी चिंताजनक हैं क्योंकि वह सरकार बनने के बाद से लगातार ये दावा करते आ रहे हैं कि हमारी सरकार में अपराध कम हुए हैं….! अपराधी यूपी छोड़ कर भाग गए हैं….! पुलिस एनकाउंटर से यूपी में रामराज स्थापित होगा ….! जबकि सच में तो अपराध कम होने की बजाय बढ़ते ही जा रहे हैं।

भाजपा विधायक द्वारा बलात्कार की पीड़ित ने, मुख्यमंत्री आवास के सामने पूरे परिवार संग की आत्मदाह की कोशिश !

यूपी की राजधानी लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी के सरकारी आवास के ठीक सामने कुछ महिलायें और बच्चे एक साथ पहुँचे और एका-एक आत्मदाह करने की कोशिश करने लगे । हालाँकि मुख्यमंत्री सुरक्षा में लगे सिपाहियों ने तुरंत ही स्थिति को संभाला और महिला वा उसके परिवार को किसी अप्रिय घटना के होने से पहले बचा लिया। आत्मदाह करने आयी महिला ने मीडिया के सामने उन्नाव के भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर पर दुष्कर्म का आरोप लगाया और कहा कि हमारी कोई नहीं सुन रहा है, ना मुख्यमंत्री सुन रहे हैं….! ना यूपी पुलिस सुन रही है….. उल्टा हमारे चाचा को बुरी तरह मारा और उनके ऊपर ही मुकदमा करवा दिया….. तथा पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी देते हैं ! इसीलिए सब जगह से ठोकर खाने के बाद हम प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी जी के आवास के सामने परिवार संग आत्मदाह करने आये थे । परिवार का आरोप है कि विधायक की शिकायत करने के बावजूद पुलिस उन पर कार्रवाई नहीं कर रही है। विधायक उसे जानमाल की धमकी दे रहे हैं। वहीं, विधायक ने आरोपों को नकारते हुए मामले की गहनता से जांच कराने जाने की मांग उठाई है।

सीएम योगी के आवास के बाहर रविवार दोपहर एक महिला परिवार संग पहुंची। गेट के पास मौजूद पुलिसकर्मी कुछ समझ पाते कि इतने में सभी आत्मदाह का प्रयास करने लगे। पुलिस ने किसी तरह सभी को काबू में किया और उन्हें गौतमपल्ली थाने लेकर पहुंची।

जिला उन्नाव ग्राम पंचायत माखी के मोहल्ला सरांय थोक निवासी पीड़ित महिला ने आरोप लगाया कि उन्नाव के भाजपा विधायक और उनके भाई ने उससे दुष्कर्म किया और अब उसे जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। पुलिस से शिकायत के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं हुई। न्याय न मिलने से आहत होकर वह परिवार संग आत्मदाह के लिए मजबूर हुई।

पुलिस के काफी समझाने के बाद भी परिवार शांत नहीं हुआ और पूरा परिवार गौतमपल्ली थाने में ही धरने पर बैठ गया है। पुलिस ने कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

गौरतलब है बलात्कार पीड़ित की चाची ने बुधवार को ही उन्नाव के माखी थाने में एक रिपोर्ट लिखवाई थी, पीड़ित के चाचा सुरेंद्र सिंह की पत्नी आशा सिंह का आरोप है कि पति दिल्ली में रहते हैं। उन्होंने भतीजी के अपहरण और दुष्कर्म का मुकदमा बांगरमऊ विधायक कुलदीप सेंगर और उसके भाई के खिलाफ अदालत के आदेश पर दर्ज कराया था। उसी मुकदमे की तारीख के लिए वह दिल्ली से आए थे। मंगलवार को पेशी के बाद गांव लौट रहे थे, तभी घर के बाहर मुकदमे में सुलह का दबाव बना रहे विधायक के गुंडों और ख़ास लोगों ने खींच लिया। इन्होंने हमारे पति को बेरहमी से पीटा। बचाव करने में उसे, सास किशोरी, बेटी सोनाली, पायल और मुस्कान को भी चोर्टें आईं हैं।

योगी का गुंडाराज : भाजपा विधायक के भाई की सरेआम गुंडई, पुलिस के सामने पीड़ित को पीटा !

Loading...