पोलिंग बूथ पर लगी ‘मुस्लिम मतदाताओं’ की लम्बी लाइन को देख, भड़के डीएम-एसपी ने की गाली-गलौज !

0
3

बाराबंकी : यूपी में संपन्न हुए निकाय चुनावों में मतदान प्रतिशत बढ़ाने के लिए एक तरफ जहां निर्वाचन आयोग जनता का करोड़ों रुपया खर्च करके जागरूकता रैली समेत कई कार्यक्रमों के जरिये मतदाताओं को ज्यादा से ज्यादा मतदान करने के लिए जागरूक कर रही है, वहीं उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले में डीएम-एसपी ज्यादा मतदान होने से नाराज होकर मतदाताओं पर ही रोब झाड़ते दिखे। अफसरों ने न सिर्फ मतदाताओं को खरी खोटी सुनाई, उनके साथ गाली-गलौज तक किया। वोटरों के साथ किए गए अभद्रता की वीडियो भी लोगों ने अपने कैमरे में कैद कर ली।

डीएम को बेतुके बोल से नाराज हैं वोटर !

मामला उत्तर प्रदेश के बाराबंकी जिले का है, जहां नगर पालिका परिषद के अंतर्गत आने वाले मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र आलापुर जिन्हौली बूथ पर मतदाताओं की संख्या इस कदर बड़ी की मतदान देर शाम तक चलता रहा और मतदाताओं की लम्बी लाइन लगी रही। वोटरों की लंबी लाइन देखकर बाराबंकी एसपी और डीएम साहब का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी ने लाइन में लगे मतदाताओं को यहां तक कह दिया कि अब तक आप लोग क्या सो रहे थे, राज्य निर्वाचन आयोग आपके साथ जग रहा है, क्या अच्छा लगता है। जागरूक मतदाता ऐसे थोड़े रहते हैं। पहले आकर वोट डालना चाहिए था। गौरतलब है कि इस बूथ पर सुबह से ही लोगों में वोटिंग के लिए उत्साह दिख रहा था।

डीएम साहब से दो कदम आगे निकलते हुए एसपी ने वोटरों को धमकाया !

जिलाधिकारी अखिलेश तिवारी के साथ साथ एसपी अनिल कुमार सिंह ने धर्म विशेष समुदाय के मतदाताओं को धमकाते हुए कहा कि ‘ये साले इसी के पात्र है’। जिलाधिकारी और एसपी के इस बर्ताव से वोटरों में काफी नाराजगी है। वोटरों का कहना है कि एक तरफ जहां निर्वाचन आयोग वोट प्रतिशत बढ़ाने के लिए तरह-तरह के प्रयास कर रही है, वहीं ऐसे अधिकारी वोटरों का मनोबल तोडऩे का काम कर रहे हैं।

लोगों का आरोप – पुलिस ने मतदान ना करने के लिये लाठीचार्ज भी किया !

दरअसल, यहां के मतदाताओं का आरोप है की बूथ पर लगे पीठासीन अधिकारी और कर्मचारियों के हीला हवाली रवैय्ये के चलते मतदान बहुत ही धीमी गति से शुरू हुआ, जिसके बाद लाइन में लगे मतदाताओं को देर शाम तक अपने वोट डालने के लिए कतार में लगा रहना पड़ा, जिनकी लम्बी लाइने देख जिला प्रशासन के जिम्मेदार अधिकारी भी बौखला गए और मतदाताओं को अनाप-शनाप बकने लगे। जिले में मतदान के दौरान पुलिस कर्मियों द्वारा दो जगहों पर लाठी चार्ज भी करना पड़ा जिसकी सफाई में एसपी और डीएम निर्वाचन आयोग की गाइड लाइन बता अब अपनी सफाई दे रहे हैं। वहीँ एसपी अनिल सिंह का कहना है कि मतदाताओं के साथ कोई मारपीट नहीं की गई है।

Loading...