भोपाल : शिवराज सरकार का अमानवीय कृत्य, जेल में पिता से मिलने आये बच्चों के मुँह पर मुहर लगायी !

0
51

भोपाल : मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार लगातार अपने कारनामों से मानवता को शर्मसार करती आ रही है,अभी हाल ही में इसी सरकार ने किसानों पर गोलियां चलवायीं थी जिसमे 6 किसानों की मौत हो गयी थी। वहीँ अब ताजा मामले में रक्षाबंधन के अवसर पर दो बच्चे माँ के साथ अपने पिता से जेल में मिलने पहुंचे थे,जेल प्रशासन के द्वारा मानवता को शर्मसार करते हुए बच्चों के मुंह पर मुहर का निशान लगाने का मामला सामने आया है।

जेल से बाहर आए मासूम बच्चों के मुंह पर लोगों ने मुहर का निशान देखकर तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त करने के साथ ही इस मामले को लेकर विरोध दर्ज कराया। मामले को संज्ञान में लेते हुए एडीजी गाजीराम मीणा ने जेल स्टाफ के प्रति जांच के आदेश कर जारी कर दिए हैं। इसके अलावा जेल मंत्री ने भी इस बात को दोहराते हुए जांच के आदेश दिए हैं। हिंदी अखबार नवभारत टाइम्स की खबर के मुताबिक मासूम बच्चों के खिलाफ जेल स्टाफ की ओर से किए गए इस कृत्य के बाद यह मामला जोरो से तूल पकड़ता गया है। हालांकि वहीं इस मामले में जेल अधीक्षक ने अपने स्टाफ की गलती मामने से इनकार किया है।

दरअसल, घटना रक्षाबंधन के दिन की है जब बच्चे अपने पिता से मिलने जेल पहुंचे थे। बच्चों के पिता से मिलकर लौटते समय जेल स्टाफ ने उन मासूमों के गालों पर मुहर लगा दी थी। इस मामले को संज्ञान में लेते हुए मध्य प्रदेश मानवाधिक अधिकार समिति ने राज्य के शीर्ष जेल अधिकारी से प्रश्न पूछा कि आप यह बताए कि भोपाल केंद्रीय जेल में रक्षबानंदन पर अपने पिता से मिलने आए बच्चों के चेहरे के साथ ऐसी हरकत क्यों की गई। जिसके बाद एडीजी जेल ने कहा कि जेल मिलने आने पर इस तरह का कृत्य करने का कोई प्रावधान नहीं है।

हालांकि इसी के साथ उन्होंने यह भी माना कि लेकिन फिर भी जेलों में ऐसी परंपरा चलती रही है। उन्होंने आगे कहा कि मुंह पर मोहर न लगाकर प्रायः हाथ में मुहर लगाई जाती है। यह गलत हुआ है इसलिए मैंने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। दोषी पाए गए कर्मचारी पर उचित कार्रवाई की जाएगी।

Loading...