निकाय चुनाव के बाद सुप्रीम कोर्ट ने BJP को दिया बड़ा झटका, सपा को मिली बड़ी जीत, देखें पूरा मामला !

0
65

फिरोजाबाद, उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव में जजीत हासिल करने के बाद जबसे भाजपा की प्रदेश में सरकार बनी है तबसे ही भाजपा नेता तिकड़म में लगे हुए कि कैसे समाजवादी पार्टी के नेताओं के बड़े पदों से उतारकर खुद उन पदों पर बैठ जाएं। प्रदेश में कब्जा जमाने के बाद नभाजपा की प्राथमिकता में जिला पंचायत अध्यक्ष और ब्लॉक प्रमुख आ गए थे। जिनपर अपने नेतापन के सेट करने के लिए भाजपा की तरफ से जिला पंचायत सदस्यों और क्षेत्र पंचायत सदस्यों को साम दाम दंड भेद के जरिए अपने पाले में करके सपा प्रतिनिधियों के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया।

अब सुप्रीम कोर्ट ने भाजपा को बड़ा झटका देते हुए जसराना, नारखी और टूंडला ब्लाक प्रमुखों के खिलाफ लाए गए अविश्वास प्रस्ताव पर रोक लगाते हुए उन्हें स्टे दे दिया है। जिससे समाजवादी पार्टी के खेमे में खुशी की लहर है। बता दें कि अविश्वास प्रस्ताव पास होने के बाद सभी ब्लाक प्रमुखों ने हाईकोर्ट में शरण ली थी, लेकिन राहत नहीं मिली। जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट में अपील दायर की। जिस पर सुनवाई कर सुप्रीम कोर्ट ने स्टे देते हुए यथास्थिति रखने का आदेश दिया है।

भाजपाइयों ने सबसे पहले सात जुलाई को जसराना ब्लाक प्रमुख डॉ. रामपाल यादव के विरूद्ध अविश्वास प्रस्ताव पारित किया था। भाजपाइयों ने सभी क्षेत्र पंचायत सदस्यों को अपने खेमे में लाकर अविश्वास प्रस्ताव को पारित करा दिया था। 24 जुलाई को भाजपाई सपा एमएलसी डॉ. दिलीप यादव के भाई नारखी के ब्लाक प्रमुख दिनेश यादव के विरूद्ध अविश्वास प्रस्ताव ले आए जो पारित हो गया था। इसके बाद भाजपाई 11 अगस्त को टूंडला ब्लाक प्रमुख बीना यादव के विरूद्ध अविश्वास प्रस्ताव ले आए।

अविश्वास प्रस्ताव आने के बाद तीनों ब्लाक प्रमुख हाई कोर्ट चले गए। जहां उन्हें राहत नहीं मिली। इसके बाद तीनों ब्लाक प्रमुखों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर दी। सपा नेताओं ने अविश्वास प्रस्ताव की प्रक्रिया पर सवाल खड़े किए थे। उनका कहना था कि अविश्वास प्रस्ताव के लिए नोटिस 15 दिन पहले दिया जाना चाहिए था, लेकिन 12 दिन पहले दिया गया था। मतदान के दौरान जो लोग नामित किए गए उनमें नियमों का पालन नहीं किया गया।

ब्लाक प्रमुख नारखी दिनेश यादव ने बताया कि हमारी ओर से अधिवक्ता कपिल सिब्बल और अशोक कुमार पैरवी कर रहे थे। सुप्रीम कोर्ट ने यथास्थिति रखने के निर्देश दिए हैं। सपा जिलाध्यक्ष रामसेवक यादव और टूंडला ब्लाक प्रमुख प्रतिनिधि सत्यवीर यादव का कहना है कि यह सत्य की जीत है।

Loading...