यूपी का जंगलराज – बीजेपी विधायक की दबंगई, टोल कर्मियों के साथ की मारपीट

0
26
Loading...

लखनऊ, उत्तर प्रदेश में गुंडाराज और खराब कानून व्यवस्था का हवाला देकर विधानसभा चुनाव जीतने वाली बीजेपी के नेताओं ने पूरे प्रदेश भर में गुंडई मचा रखी है। ताजा मुजफ्फरनगर का है। जहां की चरथावल विधानसभा के भाजपा विधायक विजय कश्यप के ड्राइवर और साथियों के साथ देर शाम जीटी रोड स्थित टोल प्लाजा पर सुरक्षा गार्डों से हाथापाई हो गयी।

रिपोर्टस के मुताबिक विधायक का ड्राइवर जिस वीआईपी लेन से जा रहा था वहां मरम्मत का काम चल रहा था जिसकी वजह से सुरक्षा गार्ड ने ड्राइवर को दूसरे लेन से जाने के लिए कहा। इस बात पर ड्राइवर और गॉर्ड के बीच हाथापाई होने लगी। जिसे देख विधायक के साथी भी आ गए और गॉर्ड को पीटने लगे। जिसपर टोल प्लाजा के कर्मचारी भी आ गए और दोनों पक्षों में हाथापाई होने लगी।

बीजेपी विधायक का कहना है कि, मेरा ड्राइवर टोल प्लाजा के वीआईपी लेन से होकर गुजरने लगा तो गार्ड ने गाड़ी को रोका। ड्रावइर ने सुरक्षाकर्मी से कहा कि गाड़ी विधायक की है। इस पर गार्ड भड़क गया और कहने लगा कि उसने कई लोगों को खुद को विधायक बताते हुए देखा है। इसके बाद उसने सभी लोगों को गाड़ी से उतरने को कहा। जब मेरे दोस्तों ने उसे यकीन दिलाने के लिए मेरा आईडी कार्ड दिखाया तो उसने कार्ड को फेक दिया।

विधायक ने आगे कहा कि गार्ड मेरे साथियों से भिड़ गया और उनसे बहस करने लगा। इस दौरान टोल प्लाजा कर्मियों समेत करीब 25 लोग मौके पर इकट्ठा हो गए और मारपीट शुरू कर दी। विधायक ने दावा किया कि टोलकर्मियों ने मेरे साथ बदतमीजी की और मारने का प्रयास किया, लेकिन उन्होंने तुरंत अलीगढ़ के एसएसपी को फोन कर घटना की जानकारी दी। जिसके बाद उन्होंने मौके पर पुलिस भेजी।

पुलिस ने विधायक के समर्थकों की शिकायत पर टोलकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। घबाना पुलिस स्टेशन के एसओ राजीव यादव ने बताया कि 3 ज्ञात लोगों समेत 20 अज्ञात के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। उन्होंने बताया कि सीसीटीवी में कुछ भी कैद नहीं हुआ है।

टोल प्लाजा के मैनेजर ने बताया कि किसी ने विधायक का पहचान पत्र नहीं फेंका है। यहां मारपीट व गाली-गलौज दोनों ओर से हुई है। हमारे लोगों को भी पीटा गया है। इकतरफा मारपीट व गाली-गलौज की बात गलत है।