योगी का गुंडाराज : भाजपा विधायक के भाई की सरेआम गुंडई, पुलिस के सामने पीड़ित को पीटा !

0
0

 

उन्नाव : यूपी की योगी सरकार में भाजपा विधायकों और नेताओं की गुंडई आज चरम पर है और ऐसे मामले काम होने की बजाय बढ़ते ही जा रहे हैं। बांगरमऊ विधानसभा से बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के भाई अतुल सेंगर पर मारपीट के साथ ही कई अन्य आरोप भी लगे हैं। इस घटना में विधायक के भाई का नाम आने से जिले के अधिकारी और पुलिस मामले में लीपापोती कर रही है, जबकि पीड़ित का आरोप है कि विधायक के भाई ने पुलिस की मौजूदगी में ही उसे पीटा और धमकी दी ।

बता दें कि ग्राम पंचायत माखी के मोहल्ला सरांय थोक निवासी टिंकू सिंह पक्ष के लोगों और इसी गांव के सुरेंद्र सिंह उर्फ पप्पू के बीच मंगलवार देर शाम विवाद के बाद मारपीट हुई थी। टिंकू सिंह की ओर से दर्ज कराई गई रिपोर्ट के अनुसार शाम करीब छह बजे साथी सुमन सिंह ने फोन कर सूचना दी कि सुरेंद्र उर्फ पप्पू सिंह गाली गलौज कर रहा है। इस पर गांव के ही विनीत मिश्रा, बउवा, शैलू और सोनू के साथ पहुंचा। आरोप है कि गाली देने से मना करने पर सुरेंद्र सिंह ने जान से मारने की धमकी देते हुए तमंचा तान दिया।

टिंकू सिंह के अनुसार वह सुरेंद्र सिंह को तमंचा सहित दबोचकर थाने लेकर पहुंचा। यहां रिपोर्ट दर्ज कराई। हालाँकि घटना के बाद पीड़ित सुरेंद्र सिंह ने बताया कि इसी गांव के भाजपा विधायक के भाई अतुल सेंगर ने अपहरण और दुष्कर्म के एक पुराने मुकदमे में सुलह न करने पर बंधक बनाकर पीटा और उसके बाद पुलिस की मौजूदगी में मारपीट की तथा बाद में टिंकू सिंह के माध्यम से मेरे ऊपर ही उलटा मुकदमा दर्ज करवा दिया। वहीँ विधायक कुलदीप सेंगर के भाई अतुल सेंगर का नाम आने से मारपीट का मामला सुर्खियों में आ गया। सुरेंद्र सिंह की पत्नी आशा सिंह ने डीएम रवि कुमार एनजी और आईजी से भी शिकायत की।

बुधवार को पीड़ित सुरेंद्र सिंह की पत्नी आशा सिंह की तहरीर पर पुलिस ने ग्राम पंचायत माखी के मोहल्ला सरांय थोक के विनीत मिश्रा, बउवा, शैलू, सोनू व उनके अन्य अज्ञात साथियों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की। एसपी पुष्पांजलि ने बताया कि सुरेंद्र सिंह के आरोप पुष्ट नहीं हैं, पुलिस ने जांच शुरू कर दी है तथा माखी एसओ जांच कर रहे हैं। माखी एसओ अशोक सिंह ने बताया कि मामला मारपीट का है। दोनों पक्षों की रिपोर्ट दर्ज की गई है। जांच की जा रही है। पिटाई से घायल सुरेंद्र सिंह को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पत्नी का आरोप, मुकदमे में सुलह न करने पर विधायक के भाई ने दबंगई दिखाते हुए पीटा !

सुरेंद्र सिंह की पत्नी आशा सिंह का आरोप है कि पति दिल्ली में रहते हैं। उन्होंने किशोरी के अपहरण और दुष्कर्म का मुकदमा अदालत के आदेश पर दर्ज कराया था। उसी मुकदमे की तारीख के लिए वह दिल्ली से आए थे। मंगलवार को पेशी के बाद गांव लौट रहे थे, तभी घर के बाहर मुकदमे में सुलह का दबाव बना रहे लोगों ने खींच लिया। इन्होंने बेरहमी से पीटा। बचाव करने में उसे, सास किशोरी, बेटी सोनाली, पायल और मुस्कान को भी चोर्टें आईं हैं।

Loading...