भाजपा सांसद साक्षी महाराज के बगावती बोल, कहा- अगर किसी में दम है तो पार्टी से निकालकर दिखाए !

0
440
Loading...

उन्नाव : भारतीय जनता पार्टी से सांसद सांसद साक्षी महाराज एक बार फिर अपने बयान को लेकर चर्चा में हैं। उन्होंने एक व्यक्ति के खिलाफ 5 करोड़ रुपए मानहानी का मुकदमा दर्ज कराने की बात कही है। उन्नाव के पार्टी जिलाध्यक्ष श्रीकांत कटियार की ओर से पार्टी विरोधी गतिविधियों के आरोप और नोटिस पर सांसद साक्षी महाराज ने पलटवार किया है। उन्होंने कहा या तो वे सार्वजनिक तौर पर माफी मांगे या फिर 5 करोड़ के मानहानी के मुकदमे के लिए तैयार रहें।

साक्षी महाराज ने कहा कि मैंने इस सबंध में उन्हे नोटिस पर नोटिस भेजे लेकिन कोई जवाब नहीं मिला। अब उन्हें केवल सात दिन की ओर मोहलत दे रहा हूं। इसके बाद सीधे उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराउंगा।

वहीँ प्रदेश में बढ़ते अपराधों के विषय वह भाजपा और योगी सरकार का बचाव करते हुए बोले कि यूपी में बढ़ते अपराधों के पीछे सपा और बसपा हैं, लेकिन उन्हें बेनकाब करना और अपराध नियंत्रण करना प्रदेश सरकार की जिम्मेदारी है और फिलहाल तो योगी जी अभी संघर्ष कर रहे हैं।

बीजेपी के उन्नाव डिस्ट्र‍िक्ट प्रेसिडेंट ने सांसद साक्षी महाराज को नोटिस जारी कर उन पर पार्टी के आदेशों को ना मानने और मनमानी करने और पार्टी के नियम तोड़ने का आरोप लगाया है। नोटिस में कहा गया है कि साक्षी विपक्ष में रहे लोगों के प्रोग्राम्स में शामिल होकर उन्हें पार्टी की मेंबरशिप दिला रहे हैं जो अनुशासनहीनता है। वहीं, साक्षी महाराज ने कोई नोटिस के मिलने से इनकार करते हुए कहा कि नोटिस क्यों देते हैं, अगर हिम्मत है तो पार्टी से निकाल दें। गौरतलब है कि साक्षी महाराज कुछ दिन पहले उन्नाओ के असोहा ब्लॉक में क्षेत्र पंचायत सदस्यों की एक बैठक में शामिल होने ब्लॉक परिसर में पहुंचे थे,जहा विपक्ष में बैठी समाजवादी पार्टी के लखनऊ-उन्नाव क्षेत्र से एमएलसी सुनील सिंह यादव “साजन”,बसपा विधायक अनिल सिंह आदि लोग मौजूद थे तथा वहां साक्षी महाराज ने इन नेताओं से बात करने के साथ खूब हंसी-मजाक भी किया था जो भाजपा जिला संगठन को रास नहीं आया।

विवादों से साक्षी महाराज का पुराना नाता रहा है तथा इन विवादित बयानों की वजह से चर्चा में रहे हैं साक्षी –

  • साक्षी महाराज अपने बयानों की वजह से कई बार चर्चा में रहे हैं। उन्होंने अप्रैल 2016 में कहा था, ”इस्लाम में महिलाओं की हालत जूती की तरह है। इस मामले में कोर्ट को दखल देना चाहिए।”
  • दिसंबर 2015 में उन्‍होंने कहा था, ”दुनिया की कोई भी ताकत अयोध्या में मस्जिद नहीं बना सकती है। चाहे सारा विश्व बाबरी कहते-कहते बावरा हो जाए।”
  • अक्‍टूबर 2015 में उन्होंने कहा था, ”कुछ लोग कहते हैं गाय और बकरी के मांस में कोई अंतर नहीं। मांस तो मांस होता है। अगर सभी मांस एक जैसे हैं तो मुसलमान सूअर का मांस खाकर दिखाएं।”
  • अगस्‍त 2015 में उन्‍होंने ओवैसी भाइयों पर निशाना साधते हुए कहा था, ”असदुद्दीन ओवैसी मोहम्मद साहब का भी दुश्मन है। मैं ओवैसी से पूछना चाहूंगा कि बाबर उनका बाप था क्या? असदुद्दीन और अकबरुद्दीन ओवैसी आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले हैं। अगर मैं ये कहूं कि वे आतंकवादी हैं तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी।”