सरकारी जमीन पर कब्जा करने से रोकने पर बीजेपी के नेताओं ने दलित महिला को बुरी तरह पीटा, महिला के कपडे भी फाड़ दिए

0
92
Loading...

लखनऊ, उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनने के बाद से बीजेपी कार्यकताओं में दबंगई और गुंडई दिखाने की होड़ सी लग गयी है। आये दिन बीजेपी नेताओं की गुंडई देखने को मिल रही है। कुछ दिन पहले बलिया में भी कुछ बीजेपी कार्यकर्ताओं ने दलितों की बस्ती में जाकर मारपीट की थी। बीजेपी के सत्ता में आने के साथ ही दलित हिंसा की घटनायें बढ़ती जा रही है। ताजा मामला उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या के गृह जनपद कौशाम्बी से सामने आया है जहां सत्ताधारी बीजेपी के दबंग कार्यकर्ताओं ने दलित महिला को बुरी तरह पीटा। यही नही पिटाई के बाद महिला के कपड़े भी फाड़ दिये गये। मामला सरकारी जमीन पर कब्जे से जुड़ा है।

उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या के गृह जनपद कौशाम्बी में ग्राम सभा की सरकारी जमीन पर कब्जे को लेकर दो पक्षों में जमकर मारपीट हुई। मारपीट की घटना में दोनों पक्षों से आधा दर्जन लोग जख्मी बताये जा रहे है। घटना करारी थाना इलाके के बटबंधुरी गांव की है, जहां ग्राम सभा की खाली पड़ी जमीन पर अवैध कब्जे को लेकर सत्तापक्ष के बीजेपी कार्यकर्ता तेज प्रताप और उसके परिवार वाले जमीन पर पत्थर लगाने लगे। जिसका विरोध पड़ोस में ही रहने वाले दलित परिवार शकुंतला ने शुरू किया, देखते ही देखते जुबानी जंग मार-पीट में बदल गई।

आरोप है कि बीजेपी कार्यकर्ता तेज प्रताप पड़ोस में रहने वाली दलित महिला शकुंतला को सरे आम घसीट कर मारने का प्रयास किया। इतने में ही तेज प्रताप और उसके घर की महिलाओं ने दलित महिला शकुंतला और उसके घर वालो को जमकर पीटा और उनके कपडे फाड़ कर उन्हें अर्ध नग्न हालत में भी पंहुचा दिया।

वहीं इस मामले मे पुलिस अधीक्षक वी के मिश्रा का कहना है कि पीड़ित पक्ष की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मंझनपुर सीओ के नेतृत्व में दो टीमें गठित की गई है और जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर उचित कार्रवाई की जाएगी।

Loading...