रामनाथ कोविंद जी कुछ बोलेंगे ? दलित बस्ती के कुएं के पानी में ब्राह्मणों ने डाल दिया काला इंजन आयल !

0
370
Loading...

सागर, देश में दलितों से छुआछूत और भेदभाव इतना ज्यादा है कि मनुवादी लोग दलितों को अच्छे से खाते और जीवन जीते हुए भी नहीं देखना चाहते। यह सदियों से पूर्वजों के समय से चला आ रहा है,पर जब एक ख़ास मकसद से मानसिक बीमारी से ग्रसित ऐसे लोग आज के भारत में समानता लाने की बात करते हुए आरक्षण को समाप्त करने की बात करते हैं तो क्या वो सही है । आज भी गांव के किनारों में ही दलितों के घर होते हैं वह इसलिए कि दलित गांव के अंदर प्रवेश न कर जाएं। दलितों से भेदभाव की एक ऐसी ही खबर विकास पुरुष की छवि बनाए भाजपाई मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के राज्य मध्य प्रदेश से आ रही है।

पुलिस ने दबाव डालकर वापस कराई शिकायत !

मध्य प्रदेश के सागर जिले के बीना विधानसभा क्षेत्र के एक गांव में ब्राह्मणों ने दलितों का जीना मुश्किल कर दिया है। छुआछूत की हद इतनी कि दलितों को पानी पीने के लाले पड़ गए हैं क्योंकि ब्राह्मणों ने उस कुएं में काला मोबिल ऑयल डाल दिया है जिससे दलितों की प्यास बुझती थी। खडेसरा ग्राम पंचायत में हरिजन बस्ती के लिए यह कुआं ही पीने का पानी उपलब्ध कराने का एक मात्र जरिया है। क्योंकि छुआछूत के चलते दलित समाज के लोग उस गाँव में किसी और कुएं से पानी नहीं ले सकते।

सुबह जब गांव के लोग कुएं पर पानी भरने गए और पानी निकाला तो उनके होश उड़ गए। पानी निकालने पर देखा कि पूरी बाल्टी का पानी काला हो गया है और बाल्टी के बाहर जला हुआ मोबिल लगा था, जिससे ये समझने में देर न लगी कि किसी ने इस कुएं में जला मोबिल डाल दिया है। ताकि इस कुएं का पानी पीने लायक न रहे।

इस घटना के बाद से दलित समाज के लोग बूंद-बूंद के पानी के लिए तरस रहे हैं। बच्चे, बूढ़े पानी के बिना तिल-तिल कर मरने को मजबूर हैं। जब लोग प्यास से परेशान होने लगे तो उन्होंने थाने जाकर शिकायत करने की ठानी। उन्होंने थाने जाकर चौबे परिवार के खिलाफ नामजद शिकायत करवाई। लेकिन इसके बाद ब्राह्मणों के डर और पुलिस के दबाव में उन्होंने शिकायत वापस ले लिया।

अब देखते हैं कि अपने को दलितों और पिछड़ों का मसीहा बताने वाले प्रधानमंत्री मोदी और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री इस समस्या पर प्यास से पीड़ित लोगों की मदद किस तरह से करते हैं,एक तरफ तो दलितों का वोट पाने के लिए देश का राष्ट्रपति दलित बनाने की बड़ी राजनीति हो रही है वहीँ उसी देश में दलितों को प्यासे मारने की पूरी तैयारी भी कर ली गयी है।

Loading...