विधानसभा घेरने जा रहे ग्राम रोजगार सेवकों पर पुलिस ने भांजी लाठियां, विरोध में किया पथराव !

0
156

लखनऊ, अपनी मांगो को लेकर 12 सितम्बर से धरने पर बैठे ग्राम रोजगार सेवकों के साबरा का बाँध जब टूट गया तो आज 25 सितम्बर सोमवार की दोपहर ग्राम रोजगार सेवकों ने विधानसभा घेरने के इरादे से विधानसभा की तरफ कूच किया तो पुलिस ने उन्हें रास्ते में ही रोक लिया। रास्ते में ही रोकने पर पुलिस और ग्राम रोजगार सेवकों के बीच नोकझोंक शुरू हो गई। इसी दौरान ओवरब्रिज के पास रेलिंग फांदकर सड़क पर आने की कोशिश कर रहे ग्राम रोजगार सेवकों को पुलिस ने लाठी मारकर भागने का काम किया तो वो उग्र हो गए और पथराव शुरू कर दिया।

पुलिस द्वारा लाठीचार्ज करने से बौखलाए ग्राम रोजगार सेवकों ने पुलिस पर पथराव कर दिया जिससे कई गाड़ियों के शीशे टूट गए। पथराव पुलिस की तरफ से भी किया गया। दोनों तरफ से किए गए पतराव में कई प्रदर्शनकारी और पुलिस वाले भी घायल हो गए। पुलिस ने चार दर्जन से ज्यादा ग्राम रोजगार सेवकों को गिरफ्तार किया। धरना स्थल पर जमे रोजगार सेवकों ने भी पथराव शुरू कर दिया।

हालात पर काबू पाने के लिए पुलिस ने कई राउंड आंसू गैस के गोले और रबर की गोलियां दागीं लेकिन प्रदर्शनकारी शांत नहीं हुए। करीब तीन घंटे के संघर्ष के बाद एसपी पूर्वी सर्वेश मिश्रा भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और प्रदर्शन कर रहे ग्राम रोजगार सेवकों पर जमकर लाठीचार्ज कराया।

बता दें कि, ग्राम रोजगार सेवक संघर्ष समिति के बैनर तले सैकड़ों ग्राम रोजगार सेवक 12 सितम्बर से लक्ष्मण मेला मैदान में धरना दे रहे हैं। ग्राम रोजगार सेवकों की मांग है कि, ग्राम पंचायतों में ग्राम रोजगार सेवक के खाली पदों पर समायोजन, राज्य कर्मचारियों की तर्ज पर वेतनमान देने और पंचायत सहायकों की भर्ती पर रोक लगाई जाए।

Loading...