योगी समेत पूरी भाजपा को लगा बड़ा झटका, अखिलेश के प्रोजेक्ट में 1 पैसे का नहीं हुआ घोटाला !

0
4

लखनऊ, सत्ता में आते ही गोरखधाम मंदिर के महंत से मुख्यमंत्री बने योगी आदित्यनाथ और भाजपा ने प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को बदनाम करने के लिए उनके द्वारा शुरू किए गए प्रोजेक्ट्स में घोटालों का आरोप लगाया ताकि प्रदेश की जनता को अखिलेश यादव के खिलाफ भड़काया जा सके और जांच का खेल शुरू करवा दिया। देश की सबसे बेहतरीन सड़क लखनऊ – आगरा एक्सप्रेस-वे पर घोटालों का आरोप लगाते हुए जांच बैठा दी। अब जब जांच की रिपोर्ट आ रही हैं तो भाजपा और योगी आदित्यनाथ को झटका लग रहा है।

जांच में सामने आया है कि एक्सप्रेस-वे बनाने में किसी तरह का घोटाला नहीं हुआ है। अखिलेश यादव सरकार में बनवाए गए आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे को गुणवत्ता जांच कमेटी ने क्लीन चिट दे दी है। कमेटी को यूपीडा की ओर से बनाए गए एक्सप्रेस-वे की गुणवत्ता में कोई कमी नहीं मिली।

भाजपा की सरकार बनते ही योगी आदित्यनाथ अखिलेश यादव की सरकार पर भरस्टाचार का आरोप लगाते हुए एक्सप्रेस-वे की गुणवता एवं तकनीकी जांच करने के लिए रेल इंडिया टेक्निकल एंड इकनॉमिक सर्वे (राइट्स) को जिम्मेदारी सौंपी थी। राइट्स के तकनीकी विशेषज्ञों ने यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अवनीश अवस्थी की मौजूदगी में गुणवत्ता और तकनीकी पहलुओं की जांच की। एक्सप्रेस-वे को गई जगह खोदकर निर्माण सामग्री के नमूने की जांच कराई गई। करीब दो महीने तक चली जांच के बाद राइट्स ने गुणवत्ता को निर्धारित मानक के अनुरूप बताते हुए क्लीन चिट दे दी है।

यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अवनीश अवस्थी ने कहा कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे की जांच रिपोर्ट सरकार को पेश कर दी गई है। निर्माण की गुणवत्ता में कोई कमी नहीं मिली है। हम खुद मौके पर जांच करने गए थे।

Loading...