मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बुनकरों एवं कत्तिनों को सम्मानित किया, जानें मुख्यमंत्री ने और क्या कहा

0
53

लखनऊ, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि आजादी की लड़ाई में गांधी जी के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। देश को जागरूक करने के साथ ही, उन्होंने देश की तरक्की और खुशहाली के सम्बन्ध में भी अपने विचार दिए हैं। उनके बताए मार्ग पर चलने से कोई भी देश को विकसित और खुशहाल बनने से रोक नहीं सकता। हम सभी को गांधी जी के दिखाए रास्ते पर चलने का संकल्प लेना चाहिए, क्योंकि यह शांति और सद्भाव की वृद्धि तथा प्रगति का रास्ता है।

मुख्यमंत्री शनिवार को महात्मा गांधी की जयंती पर गांधी आश्रम, हजरतगंज में आयोजित कार्यक्रम में उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण करने के बाद अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। इस मौके पर उन्होंने चरखा भी चलाया।

उन्होंने कहा कि गांधी जी ने स्वदेशी और साधारण खानपान तथा वेशभूषा अपनाने की बात की। पूरी दुनिया में उन्हें सत्य और अहिंसा के रास्ते पर चलने के लिए जाना जाता है। इस अवसर पर पूर्व प्रधान मंत्री लाल बहादुर शास्त्री को भी उनकी जयंती पर नमन करते हुए उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी और शास्त्री जी जैसे नेता देश की गौरवशाली विरासत के प्रतीक हैं। इनसे देश की संस्कृति याद आती है।

मुख्यमंत्री ने जनता से अधिक से अधिक खादी उत्पादों को अपनाने की अपील करते हुए कहा कि वे स्वयं खादी के वस्त्र पहनते हैं। जब से खादी अपनाया है, इसे छोड़ा नहीं है। उन्होंने कहा कि समाजवादी सरकार खादी के उत्थान के लिए हमेशा मदद देती रहेगी।

वर्तमान राज्य सरकार द्वारा प्रदेश के विकास के लिए संचालित आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे, लखनऊ मेट्रो रेल, गोमती रिवर फ्रण्ट का विकास, समाजवादी पेंशन योजना, कृषक दुर्घटना बीमा योजना आदि का जिक्र करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि काम के मामले में समाजवादी सरकार का कोई मुकाबला नहीं कर सकता है।

समाजवादी सरकार ने निःशुल्क लैपटाॅप बांटा तो निःशुल्क चरखों का वितरण भी किया। मेट्रो रेल के साथ साइकिल ट्रैक का भी निर्माण किया गया। जनपद मुख्यालयों को 4 लेन मार्गों से जोड़ने के साथ ही गांवों को भी सम्पर्क मार्गों से जोड़ा गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि समाजवादियों से कोई भी लैपटाॅप वितरण या मेट्रो रेल के विकास की उम्मीद नहीं कर रहा था। जबकि समाजवादी सरकार द्वारा आधुनिक समय की जरूरतों को देखते हुए इन योजनाओं को तत्परता से लागू किया गया है।

उन्होंने कहा कि मेट्रो के निर्माण कार्य के दौरान जिन स्थानों पर तकलीफ हो रही थी, मेट्रो के निर्माण के बाद उन स्थानों को ही सबसे ज्यादा लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि 04 अक्टूबर के बाद कानपुर में भी मेट्रो रेल पर काम शुरू हो जाएगा।

इस मौके पर मुख्यमंत्री द्वारा गांधी आश्रम की ओर से बुनकरों एवं कत्तिनों को सम्मानित किया गया। सम्मानित बुनकरों और कत्तिनों को बधाई देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि अच्छा कार्य कर रहे बुनकर और कत्तिन भाई-बहनों को संस्था द्वारा सम्मानित किया जाना सराहनीय है। समाजवादी सरकार सम्मानित माताओं एवं बहनों के लिए लोहिया आवास की व्यवस्था करेगी।

इस अवसर पर खादी एवं ग्रामोद्योग मंत्री ब्रह्माशंकर त्रिपाठी ने कहा कि मुख्यमंत्री की पहल पर समाजवादी सरकार ने चरखा बांटने का काम किया है। इससे काफी संख्या में लोगों को रोजगार मिला है। गांधी आश्रमों के अवशेष रिबेट के भुगतान से इन संस्थाओं को नया जीवन मिला है।

गांधी आश्रम, हजरतगंज के मंत्री आर. एन. मिश्र ने मुख्यमंत्री सहित अन्य सभी लोगों का स्वागत करते हुए कहा कि खादी के पीछे एक दर्शन है। खादी से बड़ी संख्या में बुनकरों और कत्तिनों को काम मिलता है। खादी इको-फ्रेण्डली, स्किन फ्रेण्डली तथा इन्वायरमेण्ट फ्रेण्डली है। सरकारी विभागों में खादी की खरीद को बढ़ावा देकर खादी निर्माण में लगे लोगों की मुश्किलों को कम किया जा सकता है।

कार्यक्रम में राजनैतिक पेंशन मंत्री राजेन्द्र चौधरी, बेसिक शिक्षा मंत्री अहमद हसन, परिवार कल्याण मंत्री रविदास मेहरोत्रा, प्रमुख सचिव सूचना नवनीत सहगल सहित अन्य गणमान्य नागरिक तथा गांधी आश्रम से जुड़े कार्यकर्ता उपस्थित थे।

Loading...