कांग्रेस नेता ने भाजपा को दिया जोर का झटका, 3 घंटे में ही उतार दिया केसरिया दुपट्टा, देखें कहाँ का है मामला !

0
1873

बिलासपुर, जोर का झटका हाय जोरों से लगा, ये एक फिल्म के गाने का कुछ हिस्सा है ऐसा ही कुछ बीजेपी के साथ भी घटा। बता दें कि एक कांग्रेस नेता ने भाजपा में शामिल होने के तीन घंटे के बाद ही केसरिया दुपट्टा उतार फेंका और पुनः कांग्रेस में शामिल हो गया।

वार्ड क्रमांक 54 के कांग्रेसी पार्षद रमेश कुमार गुप्ता ने भाजपा में शामिल होने के महज तीन घंटे के भीतर ही गले से केसरिया दुपट्टा उतार फेंका और कांग्रेस भवन पहुंचकर पार्टी न छोड़ने का खुलासा करते हुए कांग्रेस में ही रहने की बात कही।

नाटकीय घटनाक्रम के चलते भाजपा व कांग्रेस की राजनीति सरगर्म रही। पहले भाजपा ने कांग्रेस के दिग्गजों को झटका दिया। महज कुछ घंटे के भीतर कांग्रेसी दिग्गजों ने मंत्री के सिपहसालार और रणनीतिकारों को सियासी पटकनी दे दी। इसे लेकर पूरे दिन अटकलबाजी का दौर चलता रहा।

नगरीय प्रशासन मंत्री अमर अग्रवाल बुधवार को वार्ड क्रमांक 54 की बैठक लेने पटेल सामुदायिक भवन पहुंचे थे। इस दौरान मंडल के पदाधिकारियों के अलावा बड़ी संख्या में वार्डवासी भी मौजूद थे। मंडल अध्यक्ष ने माइक से घोषणा की कि वार्ड पार्षद रमेश गुप्ता भाजपा की रीति नीति और मंत्री अमर अग्रवाल के कामकाज से प्रभावित होकर भाजपा प्रवेश करेंगे।

घोषणा के साथ ही पार्षद अपने साथियों सहित मंच पर आ गए। मंच पर अग्रवाल ने पार्षद व उनके समर्थकों को केसरिया दुपट्टा पहनाकर भाजपा प्रवेश कराया। कांग्रेसी पार्षद व समर्थकों के भाजपा प्रवेश से बैठक का माहौल ही बदल गया।

बैठक में शामिल भाजपाइयों ने तालियों की गड़गड़ाहट के बीच पार्टी प्रवेश पर उनका स्वागत किया। पार्षद के समर्थकों के साथ कांग्रेस छोड़ने और भाजपा जाने की बात सोशल मीडिया में वायरल होने लगी। सोशल मीडिया में खुलासे के बाद कांग्रेसी दिग्गज सक्रिय हो गए।

प्रदेश कांग्रेस कमेटी के महामंत्री अटल श्रीवास्तव, शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष नरेंद्र बोलर, नगर निगम में नेता प्रतिपक्ष शेख नजरूद्दीन समेत दिग्गज कांग्रेसी पार्षद के निवास पहुंचे व उनके राजनीतिक निर्णय की जानकारी मांगी।

तकरीबन आधे घंटे की बातचीत के दौरान खुलासा हुआ कि रमेश गुप्ता को पार्षद श्याम साहू व विजय ताम्रकार ने वार्ड में काम कराने का झांसा देकर बैठक में ले गए थे। वहीं पर उनके प्रवेश की घोषणा करा दी। उनके खुलासे से कांग्रेसी दिग्गजों ने राहत की सांस ली।

तीन घंटे पहले मंत्री व मंडल के पदाधिकारियों व भाजपाइयों के सामने भाजपा में शामिल होने वाले पार्षद रमेश गुप्ता ने कांग्रेस भवन में दिग्गज कांग्रेसी और मीडिया के सामने कहा कि मैं कांग्रेस में ही रहूंगा।
कांग्रेस ने मुझे टिकट दिया और जीत दर्ज कर नगर निगम पहुंचा हूं। राजनीति में जो कुछ मेरे पास है वह कांग्रेस का ही दिया हुआ है। कांग्रेस छोड़ने का सवाल ही नहीं उठता ।

पार्षद रमेश ने कांग्रेस भवन पहुंचकर एमआईसी मेंबर श्याम साहू व विजय ताम्रकार पर पांच लाख रुपए का ऑफर करने का सनसनीखेज आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि भाजपा नेताओं ने उनके वार्ड में करोड़ों के विकास कार्य स्वीकृत कराने का आश्वासन भी दिया था।

इस पूरे मामले में शहर भाजपा खासकर मंत्री के सिपहसालारों की जमकर फजीहत हो गई। सिपहसालारों व रणनीतिकारों को यह जरा भी आभास नहीं हुआ कि जिसे पार्टी में शामिल करा रहे हैं वह कुछ घंटों बाद ही पलट जाएगा। अचरज की बात यह कि विधायक कार्यालय ने पार्षद रमेश के भाजपा में शामिल होने की विज्ञप्ति भी जारी कर दी है। इस पूरे मामले में सिपहसालारों की रणनीतिक चूक हुई है।

Loading...