ये कैसा New India है साहेब, दूध का कारोबार करने वालों को गौरक्षकों ने पीटा एक की मौत एक अस्पताल में !

0
0

अलवर, केंद्र और प्रदेशों में भाजपा की सरकार आने के बाद से गौ रक्षा के नाम पर लोगों के कत्लेआम की घटनाओं में लगातार इजाफा होता जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सार्वजानिक मंचों से गौ रक्षकों से बोलते हैं कि गौ सेवा के नाम पर ह्त्या बर्दास्त नहीं की जाएगी जबकि जमीनी स्तर पर उनकी ही पार्टी से जुड़े संस्थान गौ रक्षा के नाम पर इंसानों के भक्षक बने बैठे हैं। राजस्थान में एक बार फिर गौ रक्षा के नाम पर गौ पालक की हत्या का मामला सामना आया है।

जानकारी के अनुसार राजस्थान के अलवर जिले में भरतपुर के घाटमिका गांव जा रहे दो युवकों की मारपीट के बाद गोली से हमला किया गया, जिससे एक युवक की मौत हो गई, जबकि दूसरा गंभीर रुप से घायल है। अल्पसंख्यक समुदाय के ये दोनों युवक एक वाहन से गायें लेकर जा रहे थे। दोनों ही पेशे से गौ पालक हैं और दूध का कारोबार करते हैं। गौरक्षा के नाम पर जारी हिंसा की कड़ी में यह ताजा मामला है।

इस हमले में जिस युवक की मौत हुई है उसका नाम उमर खान बताया जा रहा है जबकि दूसरे युवक ताहिर को हरियाणा के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मामले की सूचना के बाद मेव समाज के लोग बड़ी संख्या में अलवर के राजीव गांधी सामान्य चिकित्सालय पहुंचे। मेव समाज का आरोप है कि पुलिस के साथ हिंदूवादी संगठन के लोगों ने गाय लेकर जा रहे मुस्लिम युवकों के साथ मारपीट की और इनकी गोली मार कर हत्या की गई और अंग-भंग किया गया।

मेव समाज के लोगों ने मामले की उच्चस्तरीय जांच की मांग की है। मामले की रिपोर्ट गोविंदगढ़ थाने में दर्ज होने की खबर है। पिछले महीने अक्टूबर में राजस्थान के अलवर जिले के ही किशनगढ़ बास थाना इलाके में साहूबास के रहने वाले सुब्बा मेव नाम के व्यक्ति और उनकी पत्नी से कथित गौरक्षकों ने जबरदस्ती गायें छीन ली थीं। ये दोनों गाय पाल कर ही अपना जीवनयापन चला रहे थे। इनकी गायों को छीनकर एक गोशाला में भेज दिया गया था। इस मामले में पुलिस की मिलीभगत भी सामने आई थी।

Loading...