योगीराज में अपराधियों ने पार की क्रूरता की सारी हदें, मुस्लिम दम्पति की सर-हाथ काटकर जघन्य हत्या !

0
201

देवरिया, यूपी में अपराधियों के हौसले सातवें आसमान पर है, बढ़ते अपराध और दहशत के माहौल से पूरे प्रदेश में हाहकार मचा हुआ है, प्रदेश की राजधानी लखनऊ सहित मुख्यमंत्री योगी के गढ़ गोरखपुर के साथ बगल के जिले में में हुयी सरेआम हत्याओं से प्रदेश दहल उठा है । तरकुलवा के बघड़ा गांव में एक दंपती की हत्या से सनसनी फैल गई। पति-पत्नी के सिर को धड़ से अलग कर जिस बेरहमी से हत्या की गई, उससे इलाके के लोग सिहर उठे हैं। महिला के शव के साथ क्रूरता की गई। दोनों की हत्या एक किलोमीटर के फासले पर हुई। संदेह के आधार पर दो लोगों को हिरासत में लिया गया है। घटना से आक्रोशित गांव वालों ने आर्थिक मदद की मांग को लेकर तीन घंटे तक शव को रोके रखा।

बघड़ा गांव के 42 वर्षीय शरीफ अंसारी, बीवी जसीमा खातून (40 वर्ष) मनरेगा में मजदूर थे। रविवार की रात दंपती के बीच कुछ नोकझोंक हुई। रात दस बजे किसी ने शरीफ को फोन किया। उसके थोड़ी ही देर बाद वह गांव के बाहर पूरब की ओर निकले। पीछे से बीवी भी निकल गई। दोनों अपने छोटे बेटे को इंतजार करने को कह कर घर से निकले थे। सोमवार की सुबह आठ बजे गांव से एक किलोमीटर की दूरी पर शाहपुर नहर के पास शरीफ अंसारी की सिर कटी लाश मिली। खोजबीन के दौरान बघड़ा गांव के दक्षिणी गंडक नदी के पास जसीमा का सिर कटा शव पड़ा मिला।

जसीमा का बायां हाथ काटकर दूर फेंका गया था। महिला का सिर कुछ दूरी पर गंडक नदी किनारे फेंका गया था। सूचना मिलने पर सीओ सिटी अजय सिंह मौके पर पहुंचे। बर्बरता से की गई इस हत्या से आक्रोशित गांव के लोगों ने तीन घंटे तक शवों को रोके रखा। वह परिवार को आर्थिक मदद की मांग कर रहे थे। आश्वासन के बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लिया।

वारदात के संबंध में एएसपी चिरंजीव नाथ सिन्हा ने बताया कि पती की हत्या जघन्य अपराध की श्रेणी में है। महिला के शव के साथ क्रूरता की गई है। घटना में तीन से अधिक लोग शामिल हो सकते हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम लगाई गई है। पूछताछ के लिए दो लोगों को हिरासत में लिया गया है।

कातिलों की क्रूरता को देख पूरा इलाका थर्रा उठा –

दंपति की हत्या में कातिलों ने जिस क्रूरता को जाहिर किया उससे इलाका थर्रा उठा। पुलिस से लेकर गांववालों के जेहन में सिर्फ एक ही बात कौंध रही थी, जसीमा के साथ हुई हैवानियत का राज क्या है। जसीमा को तड़पाकर मारा जाना कहीं न कहीं यह साबित करता है कि हत्यारे जसीमा से बेहद नाराज थे। दोनों जगहों पर खून से जमीन लाल हो उठा था। डबल मर्डर में कातिलों की संख्या पुलिस तीन से अधिक बता रही है।

सोमवार की सुबह बघड़ा गांव में सब कुछ सामान्य था। शरीफ और जसीमा गायब थे। परिवार के साथ दो-चार लोग उनकी खोजबीन में जुटे थे। इसी बीच अंडे वाला एक युवक शरीफ के घर पहुंचा और बताया कि तुम्हारे मां-बाप की हत्या हो गई है। शव गांव के बाहर पड़ा है। परिवार के लोग मौके पर पहुंचे तो उनके होश उड़ गए। किसी को जसीमा के मौत की जानकारी नहीं थी। करीब आधे घंटे बाद उसके शव को लोगों ने देखा। पुलिस की पड़ताल में पता चला कि रात दस बजे के करीब शरीफ के मोबाइल पर गांव के एक युवक ने फोन किया।

इसके बाद वह आरी लेकर गांव के बाहर चला गया। पूछताछ में शरीफ के बच्चों ने पुलिस को बताया कि छप्पर में लगने वाले एक खंभे की जरूरत थी। नहर के किनारे शीशम के पेड़ को काटा गया था। शरीफ उसे उठाने गया था। जसीमा भी घर से निकल गई। जांच के बाद पुलिस अधिकारियों का दावा है कि जसीमा को लेकर शरीफ का गांव के कुछ लोगों से विवाद हो चुका है। पुलिस आशंका व्यक्त कर रही है कि दरिंदों का पहला शिकार शरीफ हुआ होगा।

राज ने खुले इसके लिए उन्होंने जसीमा को भी रास्ते से हटा दिया। सूत्रों का दावा है हत्या में तलवार या किसी धारदार हथियार का प्रयोग हो सकता है। वहीं सूत्रों का दावा है कि दंपति के बीच रिश्ते अच्छे नहीं थे। उसके यहां कई लोगों का आना-जाना था। जिस जगह शरीफ का शव मिला, वह एक शीशम का छोटा पेड़ कटा था। दूसरे के काटने की तैयारी थी। पुलिस उनको भी तलाश रही है जो पेड़ काटने में शामिल थे। मौके पर शरीफ के पास से एक लकड़ी नापने वाला इंचटेप और आरी बरामद हुई है। मोबाइल मौके से गायब था। जसीमा का जहां शव मिला है उसके कपडे़ पड़े थे।

कलाई का कंगन टूटा था। देखने में यह प्रतीत हो रहा था कि कातिलों के साथ जसीमा ने संघर्ष किया होगा। खून से सना दुपट्टा भी पुलिस ने कब्जे में लिया। जसीमा की बेटी ने गांव के दो लोगों पर आशंका जाहिर की है, जिनका उसके घर अक्सर आना-जाना लगा था। सीओ सिटी अजय कुमार सिंह का कहना था कि दो सगे भाइयों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। गांव में पेड़ से ताड़ी उतारने वालों से पूछताछ की गई है। पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है।

Loading...