EVM घोटाला – जहां हाई कोर्ट ने EVM को सीज किया, BJP नेता ने नतीजों से पहले ही बता दिया था कितने मिलेंगे वोट

0
66
Loading...

देहरादून, नैनीताल हाई कोर्ट ने विकासनगर विधानसभा सीट पर हुए चुनाव की सारी EVM मशीन को सीज करवा दिया है। विकासनगर विधानसभा सीट के नतीजों से एक बड़ी खबर आ रही है। इस सीट पर जीतने वाले मुन्ना सिंह चौहान के करीबी ने नतीजे आने से पहले 2 मार्च को ही बता दिया था कि किसे कितने वोट मिलेंगे।

नवभारत टाइम्स की खबर के अनुसार उत्तराखंड बीजेपी के प्रवक्ता मुन्ना सिंह चौहान के एक करीबी ने काउंटिंग से पहले ही देहरादून जिले के विकासनगर विधानसभा क्षेत्र में बूथवाइज पड़े वोटों की फेसबुक पोस्ट में सटीक भविष्यवाणी की थी जिस पर सवाल उठ रहे हैं। गौरतलब है कि नैनीताल हाई कोर्ट ने विकासनगर विधानसभा क्षेत्र की सभी ईवीएम मशीनों को सीज करने का आदेश दिया है।

उत्तराखंड बीजेपी प्रवक्ता मुन्ना सिंह चौहान के करीब राजू बिंजोला ने 2 मार्च को लिखे अपने फेसबुक पोस्ट में विकासनगर विधानसभा क्षेत्र के कई अहम बूथों पर कांग्रेस और बीजेपी के वोटशेयर की सटीक भविष्यवाणी की थी। बिंजोला ने कहा था कि उसके अनुमान के मुताबिक यहां से बीजेपी जीतेगी और उसे 37,590 वोट मिलेंगे जबकि कांग्रेस को 32, 572 वोट और अन्य को 6,523 वोट मिलेंगे। 11 मार्च को जब नतीजे आए तो बीजेपी को 38,895 वोट और कांग्रेस को 32,477 वोट मिले जो बिंजोला की भविष्यवाणी के काफी करीब थे।

धालीपुर, भीमवाला और कटा पाथर जैसे कुछ बूथों पर बिंजोला ने बीजेपी और कांग्रेस के वोटों की जो भविष्यवाणी की थी, नतीजों में भी दोनों पार्टियों को उतने ही वोट मिले। मिसाल के तौर पर, धालीपुर में उसने कांग्रेस के 750 वोटों की भविष्यवाणी की थी और कांग्रेस को यहां इतने ही वोट मिले। इसी तरह बडवा में उसने बीजेपी के लिए 260 वोटों की भविष्यवाणी की थी और पार्टी को 287 वोट मिले।

नवाबगढ़ में बिंजोला ने बीजेपी के लिए 1,200 वोटों की भविष्यवाणी की थी और पार्टी को 1,235 वोट मिले। केदारवाला में उसने दावा किया कि बीजेपी को 410 वोट मिलेंगे और पार्टी को 501 वोट मिले। कांग्रेस के लिए इस बूथ पर 1,046 वोटों की भविष्यवाणी की गई थी और पार्टी को 957 वोट मिले। धकरानी में भी बिंजोला की भविष्यवाणी नतीजों के बहुत करीब रही। उसने धकरानी में बीजेपी के 2,380 वोटों की भविष्यवाणी की थी और उसे 2,093 वोट मिले जबकि कांग्रेस को 4,324 वोट मिले और बिंजोला ने कांग्रेस के लिए 4,000 वोटों की भविष्यवाणी की थी। चर्बा बूथ के लिए बिंजोला ने भविष्यवाणी की थी कि बीजेपी को 2,220 वोट मिलेंगे और वहां बीजेपी को 1,976 वोट मिले। कांग्रेस के लिए इस बूथ पर बिंजोला ने 1,541 वोटों की भविष्यवाणी की थी और कांग्रेस को 1,649 वोट मिले।

मुन्ना सिंह चौहान के खिलाफ चुनाव लड़ने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता नवप्रभात ने कहा कि बिंजोला ने जिस तरह नतीजों के बारे में सटीक भविष्यवाणी की, उससे उन्हें कुछ गड़बड़ी की शंका है। उन्होंने कहा, ‘बिना किसी गड़बड़ी के आखिर कोई कैसे नतीजों के बारे में इतनी सटीक भविष्यवाणी कर सकता है?’ हरीश रावत सरकार में परिवहन मंत्री रहे नवप्रभात ने विकासनगर विधानसभा क्षेत्र में ईवीएम के साथ टैंपरिंग का आरोप लगाते हुए नैनीताल हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर की है। इसी याचिका पर सुनवाई के दौरान हाई कोर्ट ने गुरुवार को विधानसभा क्षेत्र की सभी ईवीएम को सीज करने का आदेश दिया था।

जब बिंजोला से इस बारे में बात की गई तो उन्होंने कहा कि उन्होंने जमीन पर जो देखा था उसी के आधार पर भविष्यवाणी की थी। बिंजोला ने कहा कि वोटिंग के दिन वह अपनी बाइक से विकासनगर विधानसभा क्षेत्र के सभी 135 बूथों का दौरा करके अलग-अलग आयु वर्ग, जाति और मजहब के लोगों से बातचीत की। उन्होंने कहा कि ज्यादातर लोगों ने यह कहा कि उन्होंने पीएम मोदी और बीजेपी के लिए वोट किया है और कुछ मुस्लिम महिलाओं ने भी कहा कि वे बीजेपी के साथ हैं। बिंजोला ने कहा कि भविष्यवाणी के पीचे उनकी जमीन पर की गई कड़ी मेहनत थी और जमीनी हकीकत को सही से समझने की वजह से ही उनकी भविष्यवाणी सटीक हुई।

दूसरी तरफ, मुन्ना सिंह चौहान ने कहा है कि इस मुद्दे पर गैरजरूरी विवाद किया जा रहा है। चौहान ने कहा कि उन्होंने भी तो बीजेपी के लिए 60 सीटों की भविष्यवाणी की थी और पार्टी को 57 सीटें मिली। उन्होंने सवाल किया कि क्या भविष्यवाणी करना अपराध है। चौहान ने कहा कि 2002 में नवप्रभात ने उन्हें 58 वोटों के अंतर से हराया था लेकिन उन्होंने कोई शिकायत नहीं की और अपनी हार स्वीकार की।

Loading...