सीतापुर में आदमखोर कुत्तों के हमलों का सिलसिला जारी, 14 बच्चों की मौत से ग्रामीणों में आक्रोश !

0
0

 

सीतापुर : योगी सरकार में यूपी का हाल बेहाल, यहाँ कभी ऑक्सीजन की कमी के कारण सैंकङों मासूम बच्चों की तड़पकर मौत हो जाती है। वहीँ अब 14 मासूम बच्चों को आदमखोर कुत्तों ने हमला करके मौत की नींद सुला दिया है। यूपी की राजधानी लखनऊ से सटे हुए जिले सीतापुर में आदमखोर कुत्तों का आतंक जोरों पर था और तब सरकार कर्नाटक चुनाव में व्यस्त थी। सरकार की इस असंवेदनशील रवैये के चलते जहाँ कई घरों के चिराग बुझ गए, वहीँ लोगों में दहशत का ये आलम है कि लोगों ने अपने बच्चों को स्कूल भेजना तक बंद कर दिया है। बता दें बीते शुक्रवार को फिर आदमखोर कुत्तों ने दो बच्चों को अपना शिकार बना लिया, जबकि दो लोगों को नोच कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। योगी सरकार की उदासीनता और विफलता का प्रमाण यही है कि बीते छह महीने में कुत्तों के हमले में जान गंवाने वालों की संख्या 14 पहुंच गई है लेकिन प्रशासन इसे रोक पाने में असफल साबित हो रहा है। वहीं, मथुरा से आई टीम जहां सर्च ऑपरेशन जारी है। लेकिन, टीम जहां कांबिंग कर रही है, उससे ठीक विपरीत दिशाओं में आज कुत्तों ने हमला बोला है।

अभिनेता संदीप यादव लिखते हैं कि – ये कुत्ते हैं इसलिए बचे हैं,
बाघ होता तो अब तक गोली मार दी गयी होती।

रविवार को खैराबाद थाना क्षेत्र में आदमखोर कुत्तों ने एक बालिका पर हमला बोलकर उसे निवाला बना लिया। इसकी खबर आसपास के इलाकों में फैली तो आक्रोशित सैकड़ों ग्रामीण लाठी-डंडे लेकर मौके पर पहुंच गए।

इसके बाद बालिका का शव उठाकर सीधे लखनऊ-सीतापुर हाई-वे पर पहुंचे और वहां शव रखकर प्रदर्शन किया। इस पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर प्रदर्शनकारियों को खदेड़ने के साथ ही कई लोगों को हिरासत में ले लिया। लाठीचार्ज से गुस्साए ग्रामीणों और पुलिस में जमकर पथराव भी हुआ।

स्थिति तनावपूर्ण देख कई थानों की पुलिस व पीएसी को मौके पर बुला लिया गया। इस दौरान हंगामे को लेकर नगर विधायक राकेश राठौर व पुलिस के बीच कहासुनी भी हुई। इस घटना के चलते आदमखोर कुत्तों के हमलों में जान गंवाने वाले बच्चों की संख्या 13 से बढ़कर 14 हो गई है।

खैराबाद थाना क्षेत्र के ग्राम महेशपुर चिलवारा निवासी छंगा की पुत्री रीना (12) रविवार को गांव के बाहर खेतों में गेहूं की बालियां बीनने गई थी। इसी बीच आदमखोर कुत्तों का झुंड वहां पहुंच गया।

इससे पहले कि रीना कुछ समझ पाती, कुत्तों के झुंड ने उस पर हमला बोल दिया। रीना की चीख सुनकर गांव के लोग लाठी-डंडे लेकर घटनास्थल की तरफ दौड़े और कुत्तों को खदेड़ा। मगर तब तक कुत्तों के हमले में रीना की मौत हो चुकी थी।

बालिका की मौत की खबर जैसे ही गांव व आसपास के क्षेत्र में फैली, सैकड़ों ग्रामीण महेशपुर गांव पहुंच गए और प्रदर्शन करने लगे। पुलिस ने शव कब्जे में लेने का प्रयास किया, तो ग्रामीण भड़क गए। इसके बाद गांव के लोग शव लेकर प्रदर्शन करते हुए हाई-वे की तरफ चल दिए।

रास्ते में पुलिस ने कई बार शव कब्जे में लेने का प्रयास किया, लेकिन ग्रामीणों ने प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए शव देने से इंकार कर दिया। ग्रामीणों ने खैराबाद थाना क्षेत्र में धनीपुर के पास सीएमओ कार्यालय के सामने हाई-वे पर शव रखकर जाम लगा दिया और प्रदर्शन करने लगे।

इसकी सूचना मिलते ही एसपी आनंद कुलकर्णी, एडीएम विनय पाठक, सिटी मजिस्ट्रेट हर्षदेव पांडेय, एएसपी मधुबन सिंह व महेंद्र प्रताप चौहान, सीओ योगेंद्र सिंह शहर कोतवाली, खैराबाद, मछरेहटा, तालगांव, मानपुर, कमलापुर आदि थानों की पुलिस व पीएसी के साथ मौके पर पहुंचे।

गौरतलब है कि पहली घटना सुबह आठ बजे खैरबाद थाना क्षेत्र के मासूमपुर में हुई। सुशील कुमार की आठ साल की बेटी गीता अपनी सहेलियों के साथ बाग में लकड़ी बीनने गई थी। इसी दौरान कुत्तों के झुंड ने उस पर हमला कर दिया। सहेलियों के शोर मचाने पर लोग दौड़े लेकिन तब तक गीता की जान जा चुकी थी

इसके बाद शहर कोतवाली क्षेत्र के बुढ़ावापुर में नौ बजे घटना हुई। बाग में आम बीनने गए नरेश के बेटे वीरेंद्र (10) पर सात कुत्तों के झुंड ने हमला बोल दिया। लोगो ने कुत्तों के चंगुल से छुड़ाकर उसे जिला अस्पताल में भर्ती करया, जहां कुछ देर बाद उसने दम तोड़ दिया।

इस घटना के कुछ देर बाद ही कोतवाली क्षेत्र के ही पीरपुर में राम खेलावन के बेटे ट्विंकल (6) पर आदमखोर कुत्तों ने हमला कर दिया। बच्चा शौच के लिए खेत गया था तभी कुत्तो ने हमला किया, आसपास खेत में काम कर रहे ग्रामीण दौड़े और किसी तरह मासूम को छुड़ाया। उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

चौथी घटना खैराबाद के चौबेपुर में हुई। वीरपाल की बेटी रिंकी (16) साइकिल से अपने स्कूल आर्य कन्या इंटर कॉलेज सीतापुर जा रही थी तभी रास्ते में कुत्तों ने उस पर हमला कर दिया। उसे सीएचसी में भर्ती कराया गया है।

14 बच्चों की मौत के बाद, नींद से जागे योगी के मंत्री ने जारी किये “कुत्तों” के लिए विशेष आदेश !

सीतापुर में आदमखोर कुत्तों के बच्चों की जान लेने की घटनाओं के बाद अब लखनऊ में भी आवारा कुत्तों को पकड़ने का अभियान चलाया जाएगा।

नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने आवारा कुत्तों को पकड़ने के लिए विशेष अभियान चलाने का आदेश जारी किया है। आवारा कुत्तों की बढ़ रही आबादी और उनसे होने वाली समस्या से शहरवासियों को परेशानी का सामना करना करना पड़ता है।

आवारा कुत्तों के काटने की आए दिन घटनाएं सामने आ रही हैं। इसको देखते हुए नगर विकास मंत्री सुरेश खन्ना ने विशेष अभियान चलाने का आदेश दिया।

नगर निगम के मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ. अरविंद राव ने बताया कि आवारा कुत्ताें को पकड़ने के लिए लगातार अभियान चलाया जा रहा है। जहां से भी शिकायतें आती हैं वहां टीम जा रही है। इसके लिए अलग-अलग टीम बना दी गई है।

Loading...