रामराज में महिलाएं नहीं है सुरक्षित, जेल में बंद पति से मिलकर आ रही महिला पर फेंका तेजाब !

0
57
Loading...

इटावा, उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनने के बाद ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि जितने भी अपराधी है वो प्रदेश छोड़कर चले जाएँ हालाँकि उत्तर प्रदेश में लगातार बढ़ रहे अपराध का ग्राफ देखकर तो कहीं से लगता है कि अपराधी उत्तर प्रदेश को छोड़कर कहीं गए हैं ऐसा प्रतीत हो रहा है कि अपराधी दूसरे प्रदेशों से आकर यहीं डेरा डाल लिए है या फिर पिछले 14 साल से बीजेपी की तरह वनवास काट रहे अपराधी अब बाहर आ गए हैं।

जानकारी के मुताबिक इटावा जेल में बंद पति से मुलाकात करके लौट रही महिला पर बदमाशों ने तेज़ाब फेंक दिया। महिला पर तेज़ाब फेंकने के मामले में एक खौफनाक बात सामने आई है। महिला का आरोप है कि तेजाब से हमला करने से पहले आरोपियों ने उसे तेजाब पिलाने की कोशिश की थी जब वो इसमें नाकाम रहे तो चेहरे और शरीर पर तेज़ाब फेंककर झुलसा दिया। पीड़िता के बेटे ने थाना सकीट में दो के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई है।

बता दें कि थाना सकीट क्षेत्र के गांव उदयपुर निवासी सरला पत्नी उदयवीर शुक्रवार को इटावा जेल में बंद पति से मिलने गई थी। मुलाकात के बाद सकीट से ट्रैक्टर में बैठ घर जा रही थी। नगला टिकुरिया के पास ट्रैक्टर से उतरते ही पहले से घात लगाए बैठे बाइक सवार दो लोगों ने उसे पकड़ लिया। पीड़ित महिला सरला का आरोप है कि बाइक सवारों ने पहले उसे तेजाब पिलाने की कोशिश की।

जब तेजाब पिलाने में नाकाम रहने और शोर मचाने पर लोगों को आता देख दोनों ने तेजाब उसके शरीर पर फेंक कर फरार हो गए। तेजाब से शरीर झुलसते ही महिला गिर गई और वहां से गुजर रहे लोगों ने परिवारीजनों को सूचना दी। परिवारीजनों ने देर रात महिला को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। घटना की जानकारी पर सकीट पुलिस ने घटना स्थल का निरीक्षण किया।

पीड़िता के बेटे अर्जुन कुमार ने थाना सकीट में राकेश पुत्र मुंशीलाल और उसके चाचा साहब सिंह निवासी सरलापुर थाना फफूंद औरेया के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज कराई है। एसओ सकीट ने कहा रिपोर्ट दर्ज कर आरोपियों की तलाश में एक टीम औरैया भेजी गई है।