बड़ी खबर- EVM पर UP राज्य निर्वाचन आयोग को भरोसा नहीं, बैलट पेपर से होंगे निकाय चुनाव

0
135

लखनऊ, उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के बाद से ही EVM की विश्वसनीयता पर सवाल उठ रहे हैं। EVM विवाद एक बार फिर सुर्खियों में है। EVM मशीन पर इस बार किसी राजनीतिक दल या किसी नेता ने नहीं, बल्कि राज्य निर्वाचन आयोग ने सवाल उठाया है। आयोग ने कहा है कि EVM मशीन काफी पुराने हो गए हैं, इसलिए नगरीय निकाय चुनाव बैलेट पेपर से होने चाहिए।

उत्तर प्रदेश के राज्य निर्वाचन आयुक्त एसके अग्रवाल से पूछा गया कि जिस तरह से EVM पर सवाल उठ रहे हैं तो क्या नगरीय निकाय चुनाव में बैलेट पर चुनाव हो सकते हैं। इसका जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि 2012 में हमने नगरीय निकाय चुनाव बैलेट पर ही कराए थे। बस इसमें महापौर का चुनाव EVM के माध्यम से कराया गया था।

अग्रवाल ने कहा कि दरअसल चुनाव आयोग से जो हमें EVM दी जाती है, वह 2006 से पहले की हैं। EVM पुरानी होने के कारण उनमें दिक्कतें आ सकती हैं। हमने केंद्रीय चुनाव आयोग को पत्र लिखकर मांग की है कि नगरीय चुनाव के लिए अपग्रेड EVM उपलब्ध कराई जाए।

संभावना जताई जा रही है कि यदि केंद्रीय चुनाव आयोग द्वारा समय से EVM मशीन उपलब्ध नहीं कराई जाती है तो संभावना है कि नगरीय निकाय चुनाव में बैलेट पेपर से वोटिंग कराई जाए। प्रदेश में नगरीय निकाय चुनाव जून-जुलाई में होने हैं। संभावना जताई जा रही है कि इतनी जल्दी निर्वाचन आयोग EVM मशीन उपलब्ध नहीं करा पाएगा।

Loading...