EVM घोटाला – भाजपा सारे इलेक्शन जीतेगी और EVM के दलदल से कमल खिलेगा

0
42
Loading...

लखनऊ, उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव के नतीजों ने बड़े से बड़े राजनीतिज्ञ पंडितों को चौका दिया जिसकी किसी ने उम्मीद नहीं की थी वो नतीजे आये। बीजेपी गठबंधन को 325 सीटों पर जीत मिली तो सपा और कांग्रेस गठबंधन को 54 सीटों पर ही सफलता मिल सकी और सबसे बुरे नतीजे बसपा के लिए आये जिसे 19 सीटें ही मिल पाई। 11 मार्च को नतीजे आने के साथ ही बसपा प्रमुख मायावती ने EVM पर प्रश्न उठाये थे। यही नही बसपा की तरफ से सुप्रीम कोर्ट में याचिका भी दायर की गई है जिसकी सुनवाई 2 महीने बाद होनी है।

एमपी में पकड़ा गया ईवीएम घोटाला, बटन कोई भी दबाये पर्ची निकल रही कमल की, देखिए वीडियो

शुक्रवार (31 मार्च) को मध्य प्रदेश के भिंड में एक घटना ने नेताओं द्वारा EVM की विश्वसनीयता पर उठाये गए सवालो को और मजबूत कर दिया है। भिंड में VVPAT (वोटर वेरिफाइड पेपर ऑडिट ट्रेल) की चैंकिंग के दौरान ईवीएम के दो अलग-अलग बटन दबाने पर कमल का फूल ही प्रिंट हुआ जिसका वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो गया जिसमें महिला अधिकारी को पत्रकारों से कहते सुना जा रहा है कि अगर ये खबर दिखाई तो थाने में बैठवा दूंगी।

अब इस मामले में चुनाव आयोग ने रिपोर्ट मांगी है। तो दूसरी तरफ कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने शनिवार को चुनाव आयोग से शिकायत की। चुनाव आयोग से मिलने के बाद अरविंद केजरीवाल ने कहा कि अब भाजपा सारे इलेक्शन जीतेगी और EVM के दलदल से कमल खिलेगा। इस मामले में दिग्विजय सिंह ने बोलते हुए कहा कि मुझे शुरू से ही ईवीएम पर भरोसा नहीं था।

सरकार हमारी है और चाचा विधायक हैं, BJP नेता की गुंडई – महिला अधिकारी को फोन पर धमकाया

अरविन्द केजरीवाल ने की जांच की मांग –

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, EVM में अगल – अलग बटन दबाने पर कमल का निशान ही आ रहा था। हम बार-बार कह रहे हैं कि EVM में गड़बड़ी की जा रही है। इस बार चुनावों से पहले भी असम और दिल्ली कैंट के इलेक्शन में भी बीजेपी ने घोटाला किया। जब भी खराबी होती है तो बीजेपी के लिए क्यों होती है। हमारे लिए या सपा के लिए तो नहीं हुई।

मैं भी आईआईटी से पढ़ा हूं। गड़बड़ी समझता हूं। मशीनों के सॉफ्टवेयर बदले गए थे। कुछ दिन बाद दिल्ली में भी चुनाव होने हैं। जब भी गड़बड़ी सामने आती है तो मशीन बदल दी जाती है। कोई चेक नहीं करता है। अब तो बीजेपी ही देश में सारे चुनाव जीतेगी और EVM के दलदल से कमल खिलेगा। हमारी मांग है कि पहले इसकी जांच हो तो सॉफ्टवेयर में कैसे बदलाव हो रहा है। चुनाव आयोग कैसे कह रहा था कि EVM की चिप बदली नहीं जा सकती है।

Loading...