EVM घोटाला – बसपा सुप्रीमो मायावती के समर्थन में आई समाजवादी पार्टी

0
83

लखनऊ, उत्तर प्रदेश में हाल में संपन्न हुए विधानसभा चुनाव के नतीजों ने पूरे देश को चौका दिया यही नहीं नतीजों ने राजनीतिक दलों को सोचने पर मजबूर कर दिया कि उनकी हार वाकई असली हार या फिर कोई धोखा हुआ है। बसपा सुप्रीमो मायावती ने नतीजे आने के साथ ही EVM की विश्वसनीयता पर सवाल उठा दिया था। मायावती के आरोपों का समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने समर्थन किया था। मध्य प्रदेश में घटे हालिया घटनाक्रम जिसमे EVM मशीन के डेमो के दौरान कोई भी बटन दबाने पर कमल के फूल की पर्ची ही निकल रही थी ने खलबली मचा दी थी।

यही नहीं मध्य प्रदेश में जो EVM मशीन कमल उगल रही थी वो यूपी के विधानसभा चुनावों के दौरान इस्तेमाल मवीं लाई गई थी। इसका खुलासा तब हुआ जब मशीन से निकलने वाली पर्ची में यूपी के गोविन्दनगर विधानसभा सीट से भाजपा प्रत्याशी सत्यदेव पचौरी और कांग्रेस प्रत्याशी अम्बुज शुक्ला के नाम की पर्ची निकली। आपको बता दें कि गोविंदनगर विधानसभा सीट से सत्यदेव पचौरी ने अम्बुज शुक्ला को 60 हजार से ज्यादा वोटों से हराया। जीत का मार्जन इतना था कि 2012 के विधानसभा चुनाव में सत्यदेव पचौरी को इतने वोट भी नहीं मिले थे। इस मशीन के डेमो में 4 वोट डाले गए 2 वोट कांग्रेस के प्रत्याशी को 2 वोट बीजेपी के प्रत्याशी को मगर पर्ची निकली सिर्फ कमल की जिसने मायावती के आरोपों को और बल दिया है।

बुधवार को EVM को लेकर राज्यसभा में विपक्ष ने जमकर हंगामा किया। विपक्ष ने सरकार पर ईवीएम मशीन के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगाया। मायावती ने राज्यसभा में EVM के मुद्दे को जमकर उठाया। EVM के मुद्दे पर समाजवादी पार्टी ने राज्यसभा में मायावती का साथ दिया और EVM की विश्वसनीयता पर सवाल उठाया।

ईवीएम में गड़बड़ी का मुद्दा मायावती ने उठाया। वो इस पर चर्चा की मांग कर रही थीं। उनका कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने सपोर्ट किया। हालांकि, डिप्टी स्पीकर पीजे कुरियन ने कहा कि नियम 267 के तहत इस पर चर्चा नहीं हो सकती।

मायावती ने ईवीएम में गड़बड़ी होने का शक जताया था। मायावती का कहना था कि मुस्लिमों की ज्यादा आबादी वाले इलाकों में बीजेपी का जीतना उनके इस शक को पुख्ता करता है। हंगामे के दौरान मायावती ने बीजेपी पर बेईमान होने का आरोप भी लगाया। उन्होंने मध्य प्रदेश के बाई-इलेक्शन में ईवीएम में गड़बड़ी की शिकायतों का मुद्दा भी उठाया। समाजवादी पार्टी के सांसद नरेश अग्रवाल ने कहा कि ईवीएम की चिप की प्रोग्रामिंग बदली जा सकती है। इस पर डिप्टी स्पीकर ने कहा- इलेक्शन कमीशन इस पर सफाई दे चुका है।