कर्जमाफ न होने से हताश किसान ने की आत्महत्या, अखिलेश ने परिवार को दी 1 लाख रूपये की मदद !

0
426
Loading...

कौशांबी, उत्तर प्रदेश चुनाव के दौरान भरे मंच से देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कर्जमाफी का वादा करना किसानों की जान के लिए खतरा बनता जा रहा है। उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनने के करीब 1 महीने बाद हुई कर्जमाफी की घोषणा ने कर्ज में डूबे किसानों के साथ अच्छा मजाक किया। योगी सरकार ने किसानों के सिर्फ 1 लाख तक के ही कर्ज माफ़ करने की घोषणा की उसमें भी जिन्होंने बैंकों से कर्ज लिया था। जिसकी वजह से लाखों किसान ऐसे रह गए जिनका कर्ज नहीं माफ हो सकता। ऐसे ही एक किसान ने डिप्टी सीएम केशव मौर्या गृह जनपद कौशाम्बी में हताश होकर ख़ुदकुशी कर ली।

जानकारी के मुताबिक उत्तर प्रदेश के उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के गृह जनपद कौशांबी की सिराथू तहसील के परसीपुर बख्तियारा गांव में कर्ज से डूबे किसान ने कर्ज माफ न हो पाने पर हताश होकर आत्महत्या कर ली।

आर्थिक तंगी के दौर से गुजर रहे कर्ज में डूबे किसान रामबाबू ने बीते बुधवार की सुबह घर के पास एक आम के बाग में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली थी। गुरूवार को सपा नेताओं ने मृतक किसान के घर पहुंचकर पीड़ित परिवार को एक लाख रुपया नकद देकर आर्थिक मदद की।

सपा युवजन सभा के प्रदेश अध्यक्ष विकास यादव, एमएलसी वासुदेव यादव, पूर्व सांसद शैलेन्द्र कुमार, जिलाध्यक्ष खड्ग सिंह पटेल व कई अन्य सपा नेता मृतक किसान के घर पहुंचे और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की ओर से एक लाख रूपया नकद धनराशि प्रदान की। साथ ही सपा नेताओं ने परिवार को शासन से भी आर्थिक मदद दिलाने का भरोसा किया।

एमएलसी वासुदेव यादव ने कहा कि प्रदेश की योगी सरकार ने किसानों से उनके कर्ज माफ करने का वादा किया था जो अभी तक पूरा नहीं हो सका।

भाजपा का कोई नेता या जनप्रतिनिध किसान के दरवाजे नहीं पहुंचा। जबकि सिराथू से भाजपा विधायक शीतला प्रसाद पटेल का निवास मृतक किसान के गांव से महज पांच किमी दूर है। किसान की मौत को 36 घंटे से भी अधिक का समय बीत जाने के बाद भी मदद तो दूर भाजपा विधायक पीड़ित परिवार का आंसू पोछने उनके दरवाजे नहीं पहुंच सके थे। खुद को किसान हितैसी कहने वाली भाजपा सरकार का कोई भी प्रतिनिधि गावं नहीं पहुंचा, जिससे पीड़ित परिवार व गांव के लोग ठगा सा महसूस कर रहे हैं।

 

 

Loading...