यूपी की कानून व्यवस्था हुई तार तार, BJP नेता और उसके बेटे की दिन दाहड़े चाकू से गोदकर हत्या !

0
8

कानपुर, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भाजपा के प्रचार मंत्री बन गए हैं अभी तक निकाय चुनाव के लिए प्रच्चार करते रहे तो अब गुजरात जाकर भाजपा का प्रचार कर रहे हैं और उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था राम भरोसे है। राम जी की 100 मीटर ऊंची प्रतिमा लगाने की घोषणा मात्र से ही क्राइम कण्ट्रोल हो जाएगा ऐसा ही कुछ सोचा होगा यूपी सीएम ने पर उत्तर प्रदेश के हालात इसके बिल्कुल विपरीत हैं।

कानून व्यवस्था को कायम करने वाले पुलिस अधिकारी और प्रशासनिक अधिकारी जब भाजपा को चुनाव जिताने की व्यवस्था करने में व्यस्त रहेंगे तो कानून व्यस्था कहां से दुरुस्त होगी। ताजा मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर का है जहां भाजपा का वर्तमान मेयर है सांसद है दो दो कैबिनेट मंत्री हैं। बावजूद इसके कानून व्यस्था का क्या हाल है वो तब देखने को मिला जब भाजपा नेता और उसके बेटे को ही चाकू से गोदकर मौत के घाट उतार दिया गया।

जानकारी के मुताबिक कानपुर में दिनदहाड़े भाजपा नेता और और उसके नाबालिग बेटे की चाकुओं से गोदकर हत्या कर दी गई। इस दोहरे हत्याकांड के बाद पूरे शहर में हड़कंप मच गया। पुलिस के मुताबिक मरने वाला भाजपा नेता हिस्ट्रीशीटर रहा है नगर निकाय चुनाव में वह भाजपा के लिए प्रचार भी कर रहा था। हत्यारों के बारे में अभी तक कुछ भी पता नहीं चला है पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

पुराना कानपुर के महेश्वरी मोहाल निवासी भाजपा नेता सतीश कश्यप उर्फ छोटे बब्बन (55) बुधवार को मोहल्ले में एक भाजपा नेता से मुलाकात के बाद वापस घर लौट रहा था। तभी पहले से घात लगाए बैठे लोगों ने छोटे बब्बन को रोका और चाकुओं से ताबड़तोड़ प्रहार कर उसे मौत की नींद सुला दिया। हमलावरों ने छोटे बब्बन के साथ मौजूद उसके नाबालिग बेटे ऋषभ (14) को भी बेरहमी से चाकुओं से गोदकर मार डाला। ऋषभ को मारने के पीछे बताया जा रहा है कि कातिलों को लगा कि वह गवाह बनेगा, इसलिए उसे भी बेरहमी से मौत की नींद सुला दिया गया।

महेश्वरी मोहाल चावल मंडी निवासी भाजपा नेता सतीश कश्यप उर्फ छोटे बब्बन का अपराधिक इतिहास रहा है। कानपुर के ही एक बड़े भाजपा नेता का उसे समर्थन प्राप्त था। क्षेत्र में बब्बन का बड़ा रूतबा था। हत्या समेत कई संगीन मामले जब छोटे बब्बन पर दर्ज हुए तो करीब डेढ़ दशक पहले फीलखाना पुलिस ने उसकी हिस्ट्रीशीट खोल दी। बताया जा रहा है कि पुलिस से बचने के लिए पिछले कुछ सालों से वह बिल्डिंग कांस्ट्रैक्शन के कारोबार से जुड़ गया था।

भाजपाइयों में चले लात जूते, विधायक समेत 6 के फूटे सर !

Loading...