योगीराज में पुलिस लवर्स पकड़ने में मस्त, छेड़खानी पर कार्यवाई न होने से आहत युवती ने की आत्महत्या

0
14
Loading...

लखनऊ, उत्तर प्रदेश के योगीराज में पुलिस पोलिसिंग छोड़कर स्वच्छता अभियान, बूचड़खानों पर ताला और प्रेमी युगलों को पकड़ने के कामों में व्यस्त है। जैसा योगी सरकार का आदेश होगा पुलिस वैसा ही करेगी।

महिलाओं की सुरक्षा के नाम पर एंटी-रोमियो स्क्वायड का गठन किया गया। लेकिन एंटी-रोमियो स्क्वायड के गठन के बाद भी महिलाओं और युवतियों से छेड़खानी रुकने का नाम नहीं ले रही है। इसी कड़ी में एक युवती ने अपने ऊपर हुए छेड़खानी पर कार्रवाई न होने से छुब्ध होकर जान दे दी।

रिपोर्टस के मुताबिक, रामपुर कोतवाली क्षेत्र के काशीपुरा गांव निवासी जयपाल और ओमपाल के बीच में अरसे से छोटी-छोटी बातों को लेकर ठनी हुई है। पिछले दिनों जयपाल की पत्नी की ओर से ओमपाल के खिलाफ घर में घुसकर मारपीट करने की रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। जिस पर ओमपाल की पत्नी ने भी जयपाल के खिलाफ शिकायत की थी। जिसकी पुलिस ने जांच करने की कवायद चल रही थी। मंगलवार की रात जयपाल अपने परिवार के साथ रोज की तरह सोए हुए थे।

उनकी बेटी रोज की तरह अलग अपने कमरे में गेट बंद करके सोई थी। सुबह सारे परिवार वाले उठ गए, लेकिन उसका कमरा देर तक नहीं खुला और न ही कमरे में कोई हलचल दिखाई दी। जिस पर परिवार वालों को आशंका हुई। तब कुछ लोगों की मदद से कमरे का गेट तोड़ा। शांति पंखे में फंदे पर लटकी मिली। जिसको नीचे उतारा गया। तब तक उसकी मौत हो गई थी।

इसके बाद मामले की सूचना पुलिस को दी गई। परिवार वालों ने बेटी के आरोपी के खिलाफ कार्रवाई को लेकर हंगामा किया। सूचना पर पुलिस गांव पहुंची और युवती के शव को कब्जे में लेकर पोस्ट मॉर्टम के लिए भेज दिया गया। इस बीच परिवार वाले बेटी का शव लेकर एसपी के यहां पर पहुंचे और उन्होंने आरोपी युवक पर कार्रवाई की मांग को लेकर हंगामा किया।

हालांकि मौके पर एसपी नहीं मिले जिसके बाद सीओ सिटी दिनेश कुमार शुक्ला परिजनों से मिले। परिजनों का आरोप है कि पुलिस से आरोपी की शिकायत की गई थी, लेकिन कोई कार्रवाई नहीं की गई। जिस कारण उनकी बेटी ने क्षुब्ध होकर आत्महत्या कर ली। उन्होंने आरोपी के खिलाफ दर्ज रिपोर्ट में गिरफ्तारी की मांग की। सीओ ने आरोपी की गिरफ्तारी का भरोसा दिलाया। जिस पर वह शव लेकर देर शाम चले गए।