BJP को मिली संजीवनी, नाराज नितिन पटेल माने, हार्दिक और कांग्रेस को लेकर कही बड़ी बात !

0
13

नई दिल्ली, शनिवार को गुजरात की भाजपा सरकार को लेकर हुई उठा पाठक हाल फिलहाल के लिए थम गयी है भाजपा के वरिष्ठ नेता और डिप्टी सीएम नितिन पटेल मान गए हैं और उन्होंने अपना पद भार संभाल लिया है। उन्हें उनका पसंदीदा वित्त मंत्रालय भी मिल गया है। यह सब हुआ है भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के एक फोन से उन्होंने फोन पर बात करके ही नितिन पटेल को मना लिया।

इससे पहले डिप्टी सीएम नितिन पटेल की नाराजगी की खबर आई थी उन्होंने पदभार संभालने से इंकार कर दिया था और रुपाणी सरकार को तीन दिन का अल्टीमेटम भी दिया था और कहा था कि उनका सम्मान नहीं हुआ तो वो इस्तीफा दे देंगे।

बता दें कि वित्त मंत्रालय पिछली आनंदीबेन पटेल और विजय रुपाणी की सरकार में नितिन पटेल के पास ही था। पिछली बार वित्त, शहरी विकास, उद्योग और राजस्व जैसे दमदार मंत्रालयों को चलाने वाले नितिन पटेल को इस बार कम अहमियत वाले स्वास्थ्य, सड़क-भवन जैसे मंत्रालय मिले थे जिसके चलते वो खासे नाराज हो गए थे।

रुपाणी सरकार के शपथ ग्रहण समारोह के बाद से मनचाहे मंत्रालय न मिलने से नितिन पटेल पार्टी से नाराज चल रहे थे। इसी बीच पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने नितिन पटेल ‘काका’ को एक प्रस्ताव दिया था। हार्दिक पटेल ने नितिन पटेल को अपने साथ आने का ऑफर दिया था। हार्दिक ने कहा था, अगर बीजेपी में नितिन पटेल का सम्मान नहीं हो रहा है तो वह कांग्रेस ज्वाइन कर सकते हैं।

हार्दिक ने कहा था कि वह डिप्टी सीएम नितिन पटेल से मिलने भी जाएंगे। हार्दिक ने कहा था कि, मैंने नितिन काका को मैसेज किया था। अगर वह कहते हैं कि उन्हें बीजेपी छोड़नी है तो मैं उनके साथ रहूंगा। उन्होंने कहा था कि वह नितिन पटेल के लिए कांग्रेस पार्टी से बात करेंगे ताकि उन्हें सही जगह मिले और उनकी साख पर कोई सवाल न उठे। हार्दिक ने कहा था कि, अगर नितिन भाई 10 विधायकों के संग बीजेपी छोड़ने को तैयार हो जाते हैं तो हम कांग्रेस में उन्हें उपयुक्त पद देने की बात करेंगे। हार्दिक ने ये बातें बोटाड में पाटीदार अनामत आंदोलन समिति की बैठक से पहले कही थीं।

नितिन पटेल ने पार्टी से अपनी नाराजगी खत्म होने के बाद कहा है, पार्टी अध्यक्ष की ओर से मुझे आश्वासन दिया गया है कि मुझे जो उच्च स्तरीय मंत्रालय चाहिए थे, उनको देने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। इसके बाद ही मैंने मंत्रालयों के कामकाज को संभालने का फैसला किया है। हार्दिक पटेल के प्रस्ताव पर नितिन पटेल ने कहा, कांग्रेस कई मामलों में राजनीतिक फायदा उठाना चाहती है। कांग्रेस की ओर से जो प्रस्ताव दिया गया मैं उस पर कभी विचार भी नहीं कर सकता हूं।

Loading...