मोदी-शाह से 2 कदम आगे निकले गुजराती अधिकारी,बोले- मैं भगवान का अवतार हूँ ऑफिस नहीं आ सकता !

0
2

भगवान विष्णु के दसवें अवतार “कल्कि” गुजरात में प्रकट हुए !

गुजरात : भारत के गुजरात प्रदेश का नाम एक बार फिर चर्चा में है, गुजरात के एक सरकारी अधिकारी ने दावा किया है कि वह भगवान विष्णु का दसवां अवतार “कल्कि” हैं। वह दुनिया को बदलने के लिए तपस्या कर रहा है, इसलिए ऑफिस नहीं आ सकता है। अधिकारी ने ये बात उस नोटिस के जवाब में कही है, जो उनके लगातार ऑफिस से गायब रहने पर जारी किया गया था। उम्र के 50वें दशक के अंतिम पड़ाव पर मौजूद रमेशचंद्र फेफर ने कहा है कि उसकी तपस्या से देश में पिछले 19 साल से अच्छी बारिश हो रही है। सरदार सरोवर पुनर्वास एजेंसी में सुपरिंटेंडेंट इंजीनियर पद पर कार्यरत रमेश को नोटिस जारी किया गया था, क्योंकि वे कई दिनों से छुट्टी पर थे।

तीन दिन पहले इसके दो पेज लंबे जवाब में उन्होंने यह हास्यास्पद जवाब दिया है। उनका यह जवाब सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। पिछले 8 महीने में अपने वड़ोदरा स्थित कार्यालय में मात्र 16 दिन काम करने वाले रमेश ने कहा है कि अगर लोगों को भरोसा नहीं हो रहा है कि वह कल्कि है तो वह जल्द इसे साबित कर देंगे। राजकोट में अपने घर पर मीडिया से बात करते हुए रमेश ने शुक्रवार को कहा, मार्च, 2010 में एक दिन ऑफिस में काम करते हुए उसे एहसास हुआ कि वह भगवान का 10वां अवतार हैं और उनके पास दैवीय शक्तियां हैं।

गौरतलब है कि भारत में आज कल गुजरात का नाम अक्सर चर्चा में रहता है क्योंकि देश के प्रधानमंत्री मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह यहीं से आते हैं। हालाँकि “कल्कि” अवतारी इस गुजराती अधिकारी के तजा प्रकरण के बाद लोगों ने सोशल मीडिया में तरह-तरह की टिपड़्ड़ी की, एक यूजर ने लिखा कि ” ये तो मोदी और शाह से दो कदम आगे है फेंकने में”। एक यूजर ने लिखा कि – सारे अवतार गुजरात में हुए हैं क्या कोई अपने को गंगा पुत्र कहता है तो कोई “कल्कि” अवतारी !

Loading...