सार्क सम्मेलन तक पहुचीं अखिलेश के उत्तर प्रदेश की चमक

3
59
Loading...

सार्क सम्मेलन में भाग लेने गए भारत के गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने जहाँ कार्यक्रम में आंतकवाद के मुद्दे को उठाया वहीं उन्होंने महिला एवं बच्चों की सुरक्षा पर बात रखते हुए उत्तर प्रदेश के ‘ऑपरेशन स्माइल’ जैसी पहल का भी जिक्र किया, जिसके ज़रिए लापता बच्चों को बचाया जा रहा है।

शुक्रवार को संसद में भी राजनाथ सिंह ने इस बात को दोहराया।

गाजियाबाद के पूर्व एसएसपी धर्मेन्द्र सिंह यादव ने सितंबर 2014 में इस आपरेशन की नींव रखी और इस अभियान के तहत पुलिस ने 51 बच्चों को बाल मजदूरी के चंगुल से बाहर निकाला था।

उस वक्त धर्मेन्द्र ने सोचा कि अगर एक छापा दूसरे शहरों के बच्चों को गाजियाबाद से मुक्त करवा सकता है तो क्यों ना दूसरी जगहों से गाजियाबाद के बच्चों को भी इसी तरह छुड़वाया जाए और इसी के तहत शुरूआत हुई ‘ऑपरेशन स्माइल’ की जिसमें तकनीक की मदद से गाजियाबाद की पुलिस ने अपने शहर से लापता हुए बच्चों को ढूंढ निकालने का काम शुरू किया।

एक रिपोर्ट के मुताबिक आठ राज्यों ने मंत्रालय को बताया कि इस अभियान के तहत काम करते हुए महज जनवरी (2015) भर मे करीब 2500 बच्चों को बचाया जा सका ।सुप्रीम कोर्ट ने भी बच्चों का जल्द से जल्द पता लगाने के लिए ‘ऑपरेशन स्माइल’ के अपनाए जाने पर जोर दिया है ।

एसएसपी धर्मेन्द्र सिंह यादव

smile-operation

Loading...

3 COMMENTS

Comments are closed.