योगी के बदतमीज विधायक ने लेडी आईपीएस अफसर को हड़काया, रो पड़ी आईपीएस – देखें वीडियो

0
1072

गोरखपुर, उत्तर प्रदेश में बीजेपी की सरकार क्या बन गई बीजेपी नेताओं का दिमाग सातवें आसमान पर घूम रहा है। क्या आईएएस क्या आईपीएस क्या एसडीएम क्या एसडीओ क्या डीएम बीजेपी नेताओं के आगे इनकी कोई औकात नहीं है यही साबित कर रहे हैं बीजेपी नेता। सहारनपुर में बवाल मचा तो एसएसपी लव कुमार को बीजेपी सांसद ने हटवाने की हैंकि दी और योगी आदित्यनाथ से मिलने के कुछ घंटों बाद ही एसएसपी का ट्रांसफर हो गया।

ताजा मामला योगी के खासमखास और उनके क्षेत्र के बीजेपी विधायक से जुड़ा हुआ है। इस बीजेपी विधायक ने अपनी ड्यूटी कर रही लेडी आईपीएस चारू निगम को बुरी तरह से हड़काया जिससे आईपीएस अफसर की आँखों में आंसू आ गए।

विधायक राधा मोहन दास अग्रवाल का आरोप है कि आईपीएस ने कच्ची शराब के विरोध में प्रदर्शन करने वाली महिलाओं पर लाठीचार्ज कराया। उनमें एक प्रेग्नेंट लेडी और बच्चों को भी चोटे आई हैं। इससे पहले उन महिलाओं की कच्ची शराब के ठेके बंद कराने की मांग को लेकर पुलिस से झड़प हुई, इसमें चले लाठी-डंडो में सीओ गोरखनाथ चारू निगम को चोटें आईं हैं।

घटना के बारे में चारू निगम ने पीटीआई भाषा को फोन पर बताया कि महिला प्रदर्शनकारियों को सडक से हटाया गया था क्योंकि वे यातायात बाधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि विधायक जब तक वहां पहुंचते, सडक प्रदर्शनकारियों से खाली हो गयी थी। संभवत: इसी से वह नाराज हो गये क्योंकि उन्होंने प्रदर्शनकारियों से कहा कि उनके आने तक वहीं रूकें।

मामला चिलुआताल थाना क्षेत्र के कोइलहवा गांव का है। यहां कच्ची शराब के खिलाफ ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया। इस दौरान सड़क जाम खुलवाने के लिए सीओ गोरखनाथ चारू निगम और ग्रामीणों में झड़प हो गई। इसमें ग्रामीणों ने पुलिस पर सड़क जाम खुलवाने के विराध में डंडे और पत्थर बरसा दिए। जिसमें चारू निगम को चोटें आई हैं। इसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए आधा दर्जन प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया।

ग्रामीणों पर पुलिस की कार्रवाई के विरोध में बीजेपी विधायक राधामोहन दास अग्रवाल ने मौके पर पहुंचकर फिर से सड़क पर जाम कर दिया। उन्होंने ग्रामीणों को छोड़ने पर ही जाम खोलने की बात कही। उनका आरोप है कि चारू निगम ने जानबूझ कर ग्रामीणों पर लाठी चार्ज करा दिया। इससे कई महिलाओं और बच्चों को चोटें आई हैं। उन्हें ऐसा नहीं करना चाहिए था।