CM योगी ने अपने शाही ठाठ से किया शहीद के परिवार का अपमान, लोगों ने योगी की जबरदस्त भर्त्सना की !

0
131
Loading...

देवरिया :  यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को शहीद प्रेमसागर के परिजनों से मिलने देवरिया के टिकमपार गांव पहुंचे और शहीद प्रेम सागर के घर जाकर संवेदना प्रकट की और उनके परिवार को सरकार की तरफ से हर संभव मदद का भरोसा दिलाते हुये सहायता राशी की चेक प्रदान की ।

वहीं मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के शाही सिस्टम को देखकर लोगों में काफी नाराजगी देखने को मिली,लोगों का कहना है कि योगी जी जिस ठाठ से शहीद के घर पहुँचे थे उससे यह लग ही नहीं रहा था कि कोई मुख्यमंत्री किसी शहीद के घर संवेदना प्रकट करने आयें हैं

योगी की इस तस्वीर की क्यों हो रही है जबरदस्त भर्तसना,क्या यह शहीद का अपमान है ?

गौरतलब है कि भाजपा के लोगों ने योगी के शहीद के घर पहुँने से पहले ही वहाँ जाकर सारी चींजें अपने हिसाब से सुंयोजित कर दी थी,जैसे कि योगी जी शहीद के घर की जगह किसी नेता के घर शादी समाहरोह में आये हों । जैसा कि आप फोटों में देख रहे हैं कि – कमरे में नये रंग-रोगन के साथ जमीन पर नयी कालीन बिछी हुयी है,टेबल पर भगवा रंग का तौलिया और योगी जी के बैठने वाली कुर्सी पर भी भगवा रंग का तौलिया डा़ला गया है,वहीं लखनऊ से स्पेशल मंगवाये गये हिमालय कम्पनी के महंगे पानी की बोतल भी टेबल पर रखी हुयी है ।
अब आप ही तय करें कि क्या यह सब सही है ।

सीएम के दौरे के मद्देनजर प्रशासन पूरी तरह से सतर्क था। इसी कड़ी में अधिकारियों ने जिस कमरे में सीएम परिजनों से मिलते उसमें पहले से ही एसी लगवा दिया था। वो भी जुगाड़ के तहत, शहीद के बेटे ईश्वर चंद्र ने dainikaaj.com  को बताया कि सीएम योगी के जाने के आधे घंटे के अंदर एसी निकाल लिया गया।

देशी जुगाड़ करते हुये बल्ली पर टांग दी AC !

सीएम के दौरे को देखते हुए अधिकारी पूरी तरह से एक्ट‍िव हो गए थे। इसके लिए गुरुवार शाम से ही शहीद प्रेमसागर के गांव में अधिकारियों ने डेरा डाल दिया था।  शहीद प्रेम सागर के बेटे ईश्वर चंद्र ने बताया, ”जिस कमरे में हमें सीएम योगी से मिलना था उसमें शुक्रवार सुबह ही जुगाड़ से एसी लगा दिया गया। इसके लिए बकायदा बांस-बल्ली के सहारे एसी टांगी गई।”

योगी के जाते ही आधे घंटे के अंदर एसी निकाल लिया गया AC !

शहीद के बड़े बेटे ईश्वर चंद्र ने dainikaaj.com को बताया कि ”सीएम योगी के जाते ही सारी सुविधाएं साफ हो गईं।”  ”एसी को आधे घंटे के अंदर ही निकाल दिया गया। इसके अलवा जो भी सुविधाएं दी गई थीं वो सभी हटा दी गईं।”

Loading...