महिलाओं के लिए असुरक्षित रेल, बदमाशों से इज्जत बचाने के लिए चलती ट्रेन से कूदी मां बेटी !

0
0

कानपुर, चलती ट्रेन में भी महिलाएं सुरक्षित नहीं है जबकि टर्बन में जीआरपी टीटी और आपातकालीन सेवा मौजूद रहती है या यूं कहें कि सिर्फ नाम के लिए ही रहती है। अगर आप रेल में अकेले सफर करती हैं तो ये खबर आपके लिए ही है। ताजा हालात ऐसे है कि रेल में सफर करने वाली महिलाएं सुरक्षित नहीं है इसलिए अकेले ट्रेन में सफर करने से बचें। ट्रेन में मौजूद पुलिस और टीटी वसूली में व्यस्त रहते हैं इसके कई सारे वीडियो आ चुके हैं।

चलती ट्रेन में छेड़खानी का ताजा मामला उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले का है। जहां चलती ट्रेन में छेड़खानी से तंग आकर अपनी 12 वर्षीय बेटी की इज्जत बचाने के लिए एक महिला चलती ट्रेन से कूद गई।

जानकारी के मुताबिक ट्रेन में छेड़खानी से परेशान होकर एक मां-बेटी चलती ट्रेन से कूद गईं। बताया जा रहा है कि जैसे ही ट्रेन हावड़ा से खुली कुछ लड़कों ने मां-बेटी के साथ छेड़छाड़ शुरू कर दी। इससे तंग आकर मां-बेटी चलती ट्रेन से कूद गई।

इस घटना की पुलिस को कई बार जानकारी दी गई, लेकिन पुलिस की ओर से कोई मदद नहीं मिली। काफी देर तक छेड़खानी से तंग आकर मां-बेटी कानपुर के चंदारी रेलवे स्टेशन के पास चलती हुई ट्रेन से कूद गईं।

मां-बेटी को जीआरपी ने जख्‍मी हालत में अस्पताल में भर्ती कराया है। फिलहाल पूरे मामले की जांच चल रही है।

Loading...