BJP भगाओ रैली में जनसैलाब देख गदगद हुए लालू और दूसरे नेता, BJP और नीतीश पर बोला जोरदार हमला !

0
68

पटना, रविवार को गांधी मैदान में लालू प्रसाद यादव की ‘भाजपा भगाओ, देश बचाओ’ रैली ने भाजपा को सकते में ला दिया है। रैली में उमड़ा जन सैलाब देख लालू समेत तमाम नेताओं के हौसले बुलंद थे। लालू की इस महारैली में यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, जदयू के संस्थापक शरद यादव, शरद यादव के सहयोगी सांसद अली अनवर, कांग्रेस महासचिव गुलाम नबी आजाद, झारखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन समेत कई नेता रैली में पहुंचे थे। रैली की अध्यक्षता लालू प्रसाद यादव कर रहे थे।

विशाल रैली को सम्बोधित करते हुए लालू प्रसाद यादव ने कहा कि, नीतीश कुमार का कोई उसूल और सिद्दांत नहीं है। हम वचन के पक्के हैं और गठबंधन की जीत के बाद नीतीश को सीएम बनाया था। ये नीतीश की आखिरी पलटी है और अब उन पर कोई भरोसा नहीं करेगा। अब लालू आएगा।

लालू ने कहा, मैं नीतीश कुमार को नहीं बनाना चाहता था। मैं इनका स्वभाव जानता था। मुलायम सिंह ने कहा कि महागठबंधन का नेता बना दीजिए तो मैं तैयार हुआ, लेकिन उनसे कहा कि इस बात की घोषणा आप ही करें। नीतीश मेरे घर आए थे। पत्नी और बेटों के सामने कहा कि मैं अब बूढ़ा हो गया हूं। अंतिम बार के लिए सीएम बना दीजिए। भविष्य तो इन बच्चों का है।

लालू बोले, जिन शरद यादव ने नीतीश को नेता और मंत्री बनाया आज उन्हें ही अपशब्द कहे जा रहे हैं। सरकार में तेजस्वी अच्छा काम कर रहे थे। उन्होंने कई सड़क और पुल बनवाया। इससे नीतीश कुमार को जलन होने लगी थी। नीतीश जब भी बीमार पड़ें, समझ लीजिए कुछ करने वाले हैं। राजगीर चले गए थे, स्वास्थ्य लाभ करने।

पटना में मेरे घर पर सीबीआई रेड हो गई। बिना राज्य सरकार को बताए सीबीआई रेड नहीं मार सकती। नीतीश ने नरेंद्र मोदी की थाली छीन ली थी। शनिवार को जब पीएम बिहार आ रहे थे तो नीतीश चांदी की थाली में 156 भोग सजाकर बैठे थे। मोदी ने पटना के भोज को रद्द कर नीतीश की थाली को ठोकर मार दी।

लालू बोले, सृजन घोटाले में आरोपी विपिन बीजेपी के किसान प्रकोष्ठ का अध्यक्ष था। उसके गिरिराज सिंह और शाहनवाज हुसैन जैसे कई नेताओं से संबंध थे। घोटाला सामने आया तो विपिन की संदिग्ध हालत में मौत हो गई। नीतीश पर 302 का केस दर्ज है। उन्हें मालूम था कि हत्या का केस खुलने वाला है। इसलिए बीजेपी के साथ चले गए।

लालू बोले, नीतीश भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की बात करते हैं। सृजन घोटाला में उनका जीरो टॉलरेंस कहां गया? शराबबंदी की खूब बात करते हैं नीतीश, लेकिन सच्चाई यह है कि घर-घर में शराब मिल रही है। हमने ताड़ी बेचने देने को कहा था। लेकिन, इसने कहा कि नीरा बनाएंगे। कहां गया नीरा।

लालू ने कहा कि, नीतीश कुमार गजब के पलटूराम हैं। वह नरेंद्र मोदी व अमित शाह से मिलकर खेल कर रहे हैं। मेरी संपत्ति की बात करते हैं। अरे मेरे पास जो संपत्ति है, वह पब्लिक डोमेन में है। जांच में सब दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा। बाढ़ आई नहीं लाई गई है। इंजीनियरों और ठेकेदारों ने पैसे बना लिए, लेकिन काम नहीं हुआ। इन लोगों पर हत्या का केस दर्ज होना चाहिए।

Loading...