नितीश और BJP सरकार के करोड़ों के घोटालों का लालू ने किया खुलासा, पेश किये सबूत, आप भी देखें !

0
93
Loading...

पटना, राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव ने पूर्व की नितीश और बीजेपी सरकार के एक घोटाले के बार में जानकारी देते हुए कुछ फोटो और प्रेस विज्ञप्ति सोशल मीडिया के माध्यम से शेयर किए हैं।

सोशल मीडिया में शेयर करने से पहले उन्होंने भागलपुर जिले में हुए सृजन घोटाले की सीबीआई जांच कराने की मांग की लालू ने शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर के नीतीश के साथ-साथ सुशील मोदी पर भी निशाना साधा।

उन्होंने कहा कि मामले को लीपापोती करने की कोशिश हो रही है यही कारण है कि नीतीश ने अपने चहेते अफसरों को ही मामलेे की जांच को भेजा। लालू ने कहा कि घोटाले की सूत्रधार मनोरमा देवी के कई राजनेताओं से संबंध रहे हैं जिनमें गिरिराज सिंह, मनोज तिवारी से लेकर शाहनवाज हुसैन तक शामिल हैं।

लालू ने निशाना साधते हुए कहा कि घोटाले के लिये नीतीश और सुशील मोदी दोनों दोषी है। ये घोटाला पहले से ही किया जा रहा था और इसमें कई लोगों की सहमति थी। लालू ने कहा कि नीतीश जी को अपने सुशील मोदी पर कार्रवाई करनी चाहिये। उन्होंने कहा कि ये घोटाला महज तीन-चार सौ करोड़ का नहीं बल्कि कई हजार करोड़ का घोटाला है।

लालू ने कहा कि सुशील मोदी चादर ओढ़ कर घी पी रहे हैं और नीतीश उनको बचा रहे हैं। ये घोटाला सिर्फ और सिर्फ वित्त विभाग की गलती से हुआ है। इस घोटाले में नीतीश के कई चहेते अफसर भी शामिल हैं.घोटाला होता रहा और दोनों की घनिष्ठता बनी रही। उन्होंने कहा कि जिस आधार पर हमपे केस हुआ है उसी आधार पर मोदी पर भी केस होना चाहिये। इस घोटाले का सच सीबीआई जांच से ही सामने आयेगा।

राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने एक के बाद एक कई ट्वीट करके नितीश और सुशील मोदी पर निशाना साधा।

“जिस 120B धारा के आधार पर हमपर चारा घोटाले का केस हुआ है उसी आधार पर नीतीश और सुशील मोदी पर भी केस होना चाहिये. होना चाहिए कि नहीं??”

“ये घोटाला सिर्फ और सिर्फ नीतीश और वित्त मंत्री सुशील मोदी की ग़लती से हुआ है.इस घोटाले में नीतीश के कई चहेते अफसर भी शामिल हैं. #NitishScam”

“घोटाले की सूत्रधार मनोरमा देवी के CM नीतीश कुमार, सुशील मोदी,गिरिराज सिंह,मनोज तिवारी से लेकर शाहनवाज हुसैन से अच्छे संबंध रहे है।देखे फ़ोटो”

“बिहार में हज़ारों करोड़ के घोटाले की लीपापोती करने की कोशिश हो रही है यही कारण है कि नीतीश ने अपने चहेते अफसरो को ही मामले की जांच सौंपी है।”

Loading...