योगी का जंगलराज – महिला हेड कांस्टेबल सुनीता शुक्ला और बेटे की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या !

0
12

 

कानपुर, उत्तर प्रदेश में चल रहे योगी के जंगलराज की बानगी देखिए दिनदहाड़े महिला पुलिस कांस्टेबल और उसके बेटे की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई। ऐसा कोई पहला मामला नहीं है आए दिन यूपी में ऐसी दर्जनों घटनाए होती हैं जो नेशनल मीडिया की सुर्खियां नहीं बन पाती है क्योंकि इससे भाजपा की छवि पर धब्बा जो लग जाएगा।

औरैया में जमीन विवाद को लेकर में महिला हेड कांस्टेबल और उसके बेटे की गोली मारकर हत्या कर दी गई। घटना से क्षेत्र में सनसनी फैल गई है। हेड कांस्टेबल के पति भी पुलिस में थे जो अचानक गायब हो गए थे। उन्हीं की जगह पत्नी को नौकरी मिली थी।

दिबियापुर थाना क्षेत्र के नेहरुनगर में रहने वाली सुनीता शुक्ला कानपुर के कलक्टरगंज थाने में हेड कांस्टेबल पद पर तैनात थी। उनका मायका बेला थाना क्षेत्र के पिपरौली शिव में था। ससुराल में 32 बीघा जमीन को लेकर परिवार के लोगों से ही विवाद चल रहा था जिसका अदालत में मुकदमा चला और हाल ही में सुनीता मुकदमा जीत गयी थी।

सोमवार को वह अपनी जमीन पर कब्जा लेने गई थीं। वह पर खेत में ट्रैक्टर चलवा रही थीं तभी विरोधियों ने उन्हें कब्जे से रोका। इसी बीच सुनीता का बेटा रिंकी उर्फ अग्निवेश वहां पर पहुंचा, उसकी विरोधियों से कहासुनी होने लगी। कहासुनी के बीच एक विरोधियों ने तमंचे से उसकी बांह में गोली मार दी। गोली लगने के बाद वह भागने लगा तो हमलावर ने दौड़ाकर पीछे से फिर एक गोली उसकी पीठ पर दाग दी। वह खेत पर गिरा तो फिर हमलावर एक गोली कनपटी में तमंचा सटाकर मारी।

खून से लथपथ अग्निवेश मौके पर तड़पने और गोली की आवाज सुनकर मां सुनीता दौड़ कर उसके पास पहुंची। उसने चिल्लाना शुरू किया तो विरोधियों ने उसके भी पेट में गोली मार दी। खून से लथपथ होकर वह भी तड़पने लगी। घटना की जानकारी होते ही पूरे गांव में सनसनी फैल गई। गांव वालों की सूचना पर पहुंची पुलिस दोनों को बिधूना सीएचसी ले गयी, जहां डॉक्टरों ने हेड कांस्टेबिल को मृत घोषित कर दिया। गंभीर हालत में रिंकी को सैफई रेफर कर दिया गया लेकिन इलाज के दौरान उसकी भी मौत हो गयी।

योगी के छुट्टा सांडों ने ले ली BHU से बीएड कर रही निधि यादव की जान !

Loading...