बसपा को लगा बड़ा झटका, मायावती के करीबी नेता ने थामा अखिलेश का हाथ !

0
12

आजमगढ़, उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान से नेताओं द्वारा बसपा छोड़ने का जो सिलसिला शुरू हुआ था वो अभी भी थम नहीं रहा है। स्वामी प्रसाद मौर्या, इंद्रजीत सरोज, नसीमुद्दीन सिद्दीकी जैसे कद्दावर नेता बसपा छोड़ चुके हैं। जिससे बसपा के वोट बैंक में भारी गिरावट भी आई है।

इसी बीच आजमगढ़ से बसपा के कद्दावर नेता और मायावती के करीबी रहे पूर्व एमएलसी कमला प्रसाद यादव ने अखिलेश यादव के सामने समाजवादी कि पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने मायावती को बड़ा झटका दे दिया है। बसपा के पूर्व एमएलसी कमला प्रसाद यादव ने मंगलवार को सपा का दामन थाम लिया। मुलायम सिंह यादव के संसदीय क्षेत्र में इसे बसपा के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है।

बता दें कि कमला प्रसाद यादव सपा के पूर्व मंत्री दुर्गा प्रसाद यादव के भांजे हैं। वर्ष 2012 के चुनाव के पूर्व समाजवादी पार्टी से टिकट न मिलने के कारण उन्होंने बसपा का दामन थाम लिया था। कमला प्रसाद यादव हाल के वर्षो में पूर्व मुख्यमंत्री मायावती के काफी करीबी हो गये थे।

यही वजह है कि वर्ष 2012 के चुनाव में गोपालपुर विधानसभा सीट पर करारी हार के बाद भी मायावती ने वर्ष 2017 के चुनाव में कमला प्रसाद यादव को दोबारा प्रत्याशी बनाया था।

मंगलवार को लखनऊ में पूर्व सीएम अखिलेश यादव की मौजूदगी में कमला यादव ने सपा की सदस्यता ग्रहण की। 2012 के चुनाव के पूर्व वे समाजवादी पार्टी में थे और सपा ने ही उन्हें एमएलसी बनाया था। उनके घर वापसी से समाजवादी पार्टी को मजबूती मिलेगी।

कमला प्रसाद यादव के सपा में वापसी पर सपा जिलाध्यक्ष हवलदार यादव सहित स्थानीय नेताओं ने खुशी व्यक्त की और कहा कि इससे पार्टी को मजबूती मिलेगी। कमला प्रसाद यादव जी पहले भी समाजवादी रहे हैं।

कमला प्रसाद यादव की सपा में वापसी बसपा के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है। कारण कि कमला के बसपा में रहने पर बसपा की यादवों में जो पकड़ बनी थी वह अब ढीली पड़ जाएगी।

Loading...