बसपा सुप्रीमो मायावाती ने किया बड़ा खुलासा, जानिए क्या कहा मायावती ने

0
24
Loading...

लखनऊ, बाबा साहेब भीमराव अम्बेडकर को अपना आदर्श मानने वाली बसपा सुप्रीमो मायावती ने उनकी जयंती पर खुद से जुड़ा एक बड़ा खुलासा किया है।

मायवती पर काफी समय से भाषण पढ़कर देने के आरोप लगते रहे हैं । चाहे वो प्रेस कांफ्रेस हो, जनसभा हो या अन्य कोई मौका, मायावती हमेशा पर्चा पढ़कर ही भाषण देते हुए देखी गयी हैं। इस बात को लेकर उन्हें विरोधी दलों की आलोचना का सामना भी करना पढ़ा है।

मायावती ने आज अंबेडकर जयंती पर आयोजित पार्टी के कार्यक्रम के मौके पर सफाई देते हुए कहा कि मेरे गले का ऑपरेशन हुआ है इसलिए मैं ऐसे बोलती हूँ, बिना पढ़े बोलती हूँ तो मेरे गले पर जोर पड़ता है। मेरे भाषण देने के तरीके से कई लोग बोल चुके है कि मैं देख कर पढ़ती हूँ। ये सुन-सुन कर मेरे कान पक गए हैं।

मायावती ने बताया कि वर्ष 1996 में उनके गले का बड़ा ऑपरेशन हुआ था। जिसमें पूरी तरह खराब हो चुका एक ग्लैण्ड डॉक्टरों ने निकाल दिया था। बिना लिखा भाषण देने में ऊंचा बोलना पड़ता है लेकिन डॉक्टरों ने ऐसा नहीं करने की सलाह दी है। इसलिए मैं अपना लिखा हुआ भाषण ही पढ़ती हैं।