योगी सरकार का बड़ा मंत्री जल्द शामिल हो सकता है गठबंधन में, जानें इनके बारे में

0
7

लखनऊ, 2017 के विधानसभा चुनाव के दौरान बहुजन समाज पार्टी छोड़कर भाजपा का दामन थामने वाले वर्तमान योगी सरकार में कैबिनेट मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा का दामन छोड़कर सपा और बसपा वाले गठबंधन में शामिल हो सकते हैं। यह चर्चा एकबार फिर से गर्म है।

पिछले दिनों जब स्वामी प्रसाद मौर्य के भतीजे प्रमोद मौर्य सपा में शामिल हुए थे तब उन्होंने कहा था कि बहुत जल्द उनके चाचा भी सपा में शामिल हो सकते हैं। उन्होंने कहा था जिस तरह से योगी सरकार में मौर्य समाज की अनदेखी की जा रही है उसको देखते हुए स्वामी प्रसाद मौर्य 2019 से पहले सपा में शामिल हो सकते हैं।

इसी बीच एकबार फिर से स्वामी प्रसाद के भाजपा छोड़ने की खबर आ रही है। बसपा विधायक उमाशंकर सिंह ने इसको लेकर एक बयान भी दिया है। उन्होंने मीडिया की ओर से मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य को लेकर हुए सवालों का जवाब देते हुए कहा है कि बेवजह बयनबाजी करने वाले इस प्रयास में हैं कि किसी न किसी तरह बैक डोर से ही सही वो इसमें (महागठबंधन) में शामिल होकर चुनाव लड़ लें। क्योंकि उन्हें उपचुनाव के बाद इन्हें महागठबंधन की ताकत का एहसास हो गया है।

दरअसल स्वामी प्रसाद मौर्य ने सोमवार को बलिया में एक बयान दिया था। इसमें उन्होंने सपा बसपा के गठबंधन पर कटाक्ष करते हए कहा था कि बुआ बबुआ का गठबंधन अवसरवादिता का गठबंधन है। इसके जवाब में उमाशंकर सिंह ने कहा कि जितने लोग इस तरह के बयान दे रहे हैं वो महागठबंधन की ताकत को पहचान गए हैं। ये किसी भी तरह से खुद ही गठबंधन का हिस्सा बनना चाहते हैं।

उन्होंने स्वामी प्रसाद मौर्य के बारे में कहा कि वो अवसरवादी हैं, इसलिये उनका कोई भरोसा नहीं। वो अपने लाभ के लिये कहीं भी जा सकते हैं। उन्हें केवल अपना लाभ दिखता है। वो लोग केवल अवसर की तलाश में रहते हैं, आज यहां तो कल वहां। ऐसा इसलिये क्योंकि सत्ता में होते हुए भी उनकी पार्टी उपचुनाव हार चुकी है। जिसके चलते स्वामी प्रसाद मौर्य भी इस तरह का बयान दे रहे हैं।

उन्होंने कहा कि, कहीं न कहीं उनकी मंशा होगी कि वह महागठबंधन में शामिल होकर कहीं न कहीं से चुनाव लड़ लें। उनकी बसपा में वापसी को लेकर हुए सवाल के जवाब में कहा कि क्या करना है, क्या नहीं करना है, इस तरह के फैसले बहनजी करती हैं। उन्होंने कहा कि जो भी बसपा को छोड़कर गया उसका कहीं और भला नहीं हुआ। बहन जी का मानना भी यही है कि जो भी बहुजन समाज पार्टी को दगा दिया उसका नुकसान ही होता है।

Loading...