सपा MLC सुनील सिंह ‘साजन’ ने योगी सरकार के 60 दिनों की कार्य समीक्षा करते हुए जमकर हमला बोला !

0
92
Loading...

लखनऊ : यूपी में बढ़ते अपराधों को रोकने के लिए जहाँ एक ओर योगी सरकार पूरी तरह विफल साबित हो रही है,वहीँ विपक्ष में बैठी समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने योगी सरकार को 6 महीने का समय दिया है और कहा है की अगर प्रदेश की जनता को कोई भी परेशानी होगी तो समाजवादी पार्टी का हर कार्यकर्ता सड़कों पर उतर कर प्रदेश की जनता के हक़ की लड़ाई लड़ेगा। योगी सरकार के 60 दिनों के काम-काज पर अखिलेश के मिस्टर भरोसेमंद सुनील सिंह यादव “साजन” ने जोरदार हमला किया है। लखनऊ-उन्नाव क्षेत्र से विधान परिषद् सदस्य(MLC) सुनील सिंह यादव “साजन” ने Dainik Aaj के एडिटर “सौरभ यादव” को दिए अपने इंटरव्यू में कहा कि उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की पूर्ण बहुमत की सरकार बने हुए दो माह हो गए है लेकिन इस सरकार के आने के बाद से प्रदेश के हालात दिन प्रतिदिन ख़राब होते जा रहे हैं।

लखनऊ-उन्नाव क्षेत्र से उत्तर प्रदेश विधान परिषद् सदस्य – सुनील सिंह यादव (साजन),सपा

उन्होंने कहा कि देश के सबसे बड़े सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भले ही मुख्यमंत्री पद के अन्य दावेदारों को अपनी जोड़-तोड़ से किनारे करते हुए सत्ता हासिल कार ली हो लेकिन एक बात साफ़ होती नज़र आ रही हैं कि प्रदेश को चला पाना उनके लिए आसान नहीं होगा, और यह बात तो उन्होंने zee news के इंटरव्यू में स्वयं स्वीकार भी की,जब उन्होंने कहा कि “इतना बड़ा प्रदेश तो हमसे संभल नहीं रहा और आप देश की बात कर रहे हैं”।

विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने जोर-शोर से समाजवादी पार्टी की सरकार के विरोध में झूठा और भ्रामक प्रचार करते हुए नारा बुलन्द किया था कि #गुंडाराज है, अब असली सच सामने आ रहा है की किसके राज में गुंडाराज है और कौन गुंडों की सरकार चला रहा है। बीते दो महीने में प्रदेश का एक-एक कोना जातीय हिंसा और धार्मिक हिंसा का शिकार होता नज़र आ रहा हैं, अपराधी खुलेआम चुनौती दे रहे हैं और प्रशासन मूक दर्शक बना हुआ हैं। इसके लिए मुख्यमंत्री योगी पूरी तरह से जिम्मेवार हैं क्योंकि योगी जी के आपराधिक रिकॉर्ड को देखकर लगता है प्रदेश के सभी अपराधियों के हौसले बढ़ गए हैं, इसीलिए जब मुख्यमंत्री बनने के बाद योगी जी ने कहा कि सभी अपराधी उत्तर प्रदेश छोड़ कर चले जायें तो अपराधियों ने इसे उल्टा समझ लिया और जो अपराधी अखिलेश जी के डर से उत्तर प्रदेश छोड़ गए थे वो भी भारी संख्या में वापस आ गए हैं

उन्नाव के एक कार्यक्रम में बायें से पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव,एमएलसी-सुनील सिंह यादव (साजन), भारत के प्रमुख उद्योगपति रतन टाटा जी

उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने विधानसभा चुनाव के दौरान बड़े जोर-शोर से समाजवादी पार्टी की सरकार को कटघरे में खड़ा कर रहे थे और कह रहे थे की भाजपा की सरकार बनेगी तो कानून व्यवस्था दुरुस्त होगी, लेकिन भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनते ही प्रदेश में लूटपाट,हत्याएँ और जातीय हिंसा की सैंकड़ों घटनाये इस ओर साफ़ तौर पर इशारा कार रही हैं कि अब असली गुंडाराज आ गया है। अमित शाह,नरेंद्र मोदी जी और राज्यपाल महोदय जी प्रदेश में अत्याधिक दंगे होने की बात बोलते थे पर आज प्रदेश में हर दूसरे दिन होते दंगों के विषय पर ऐसे मौन हैं जैसे कि कोई मौन व्रत धारण किया हुआ हो,सरकारी आंकड़ों के अनुसार योगी सरकार में पिछले 60 दिन के अंदर 30 से अधिक दंगे हुए हैं, आज योगी जी की सरकार में न व्यापारी सुरक्षित हैं और न ही आम आदमी।

वहीँ सहारनपुर की घटना भले ही राष्ट्रीय मीडिया की सुर्ख़ियों में नहीं आई हो लेकिन सच्चाई यही हैं की इस घटना में पूरे प्रदेश के साथ-साथ देश के उस वर्ग को हिला दिया हैं जिसके साथ इस तरह की घटना हुई है,जिनके घर की औरतों के हाथ काट दिए गए हैं और उनके घरों को आग के हवाले कर दिया गया हो।  एक जाति विशेष के लोगों ने दलित समाज को कमजोर मानते हुये अत्याचार किया, इसकी सुर्खिया मीडिया में कहीं नहीं रही, इतना ही नहीं दलित वर्ग ने दिल्ली में लाखों की संख्या में पहुंचकर बड़ा प्रदर्शन भी किया लेकिन किसी भी मीडिया ने लाइव कवरेज तो छोड़िये इसे चैनल पर दिखाने की जहमत तक नही उठाई।

उत्तर प्रदेश में आज कोई भी बड़ी हिंसा घटना हो वो सोशल मीडिया के जरिये पता चलती हैं, क्योंकि केंद्र में मोदी और प्रदेश की योगी सरकार ने पूरे देश की मीडिया पर कब्जा करके रखा है। दो महीने में गोरखपुर, जौनपुर, बलिया, मेरठ, सहारनपुर, मथुरा, आगरा में जो घटनाये घटित हुई उसका जिक्र तक नहीं हैं। कई थानों में मुकदमे इसलिए नही दर्ज हो रहे हैं कि कहीं अपराध का आकड़ा न बढ़ जाए,वहीँ प्रदेश में योगी जी के संरक्षक वाली हिन्दू युवा वाहिनी के लोग सरेआम गुंडई पर उतर आये हैं,जिसके चलते वो ठेकेदारों और सरकारी अधिकारियों से वसूली कर रहे हैं और आज फतेहपुर की घटना ने सभी लोगों को ये दर्शा दिया है कि प्रदेश में अब किस तरह की सरकार आयी है,फतेहपुर में आज हिन्दू युवा वाहिनी के कुछ कार्यकर्ता सिंचाई विभाग के सरकारी दफ्तर में पहुँचते है और वहां के रजिस्टर चेक करते हुए अधिकारियों से कह रहे थे कि हमे योगी जी ने भेजा है आप लोगों की जांच पड़ताल करने के लिए ।

किसानों की कर्जमाफी का वादा करके सरकार ने केवल किसानों को ठगा है क्योंकि पहले तो प्रधानमंत्री मोदी जी ने अपने भाषणों में किसानों के पूरे कर्ज को माफ़ करने की बात कही थी पर सरकार बनने के बाद योगी जी ने 1 लाख की सीमा तय कर दी और राज्यपाल जी ने विधानसभा में पढ़े गए अपने अभिभाषण में बोला कि किसानो के वही कर्ज माफ़ होंगे जो दिसंबर 2016 के बाद लिए गए होंगे,सरकार के इस कदम से जो असल किसान हैं उसे इसका लाभ नहीं मिल पाएगा। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में किसानों को गन्ने का सही मूल्य और बकाया राशि के नाम पर भाजपा सरकार ने सिर्फ धोखा दिया है और गन्ने के समर्थन मूल्य में 50% की बढ़ोतरी की बात करके महज 25 रूपये प्रति कुंतल दाम बढ़ाया है।

लखनऊ-उन्नाव क्षेत्र से उत्तर प्रदेश विधान परिषद् सदस्य – सुनील सिंह यादव (साजन),सपा

सुनील सिंह साजन यहीं नहीं रुके और बोले कि समाजवादी पार्टी की सरकार द्वारा शुरू की गयी योजनाओ की जांच के नाम पर प्रदेश सरकार अपने को बचाने का काम कर रही हैं क्योंकि इस हरकत से ये लोग प्रदेश की समस्याओं पर से जनता का ध्यान हटाना चाहते हैं,पर हम ऐसा होने नहीं देंगे । जितना विकास प्रदेश में समाजवादी पार्टी ने किया उन उपलब्धियों को भारतीय जनता पार्टी पचा नहीं पा रही हैं, इसलिए अपनी नाकामी को छुपाने के लिए कभी एक्सप्रेस वे तो कभी गोमती के किनारे के सुंदरीकरण की जांच कराकर यह बताना चाह रही हैं की सरकार बहुत अच्छा काम कार रही हैं। पिछले दो माह में योगी सरकार अगर यह बता दे की उन्होंने कोई ऐसा फैसला किया जो जनता के हित में हो, कहने को तो प्रदेश में 24 घंटे बिजली देने का वादा किया जा रहा हैं लेकिन यह वादा कहाँ पूरा हो रहा हैं,किसी एक जिले या शहर का नाम बताये ! हमे तो लगता है जिन इन्वर्टर वालों की प्रदेश में भरपूर बिजली रहने के चलते अखिलेश जी की सरकार में दुकाने बंद हो गयीं थी उन लोगों ने अपने धंधे को फिर से चमकाने के लिए योगी सरकार से जरूर कोई साथ-गाँठ की है, लखनऊ जैसे शहरों में तो बिजली 24 घंटे आ नहीं रही गाँव की बात को छोड़ दिया जाए। पिछले दो महीने में योगी सरकार के कामकाज की समीक्षा की जाए तो बस यही निकलकर आ रही हैं कि योगी ने अपने आवास में पूजा हवन कराया,गंगा जल के साथ गौ मूत्र का छिड़काव कराया अपने आवास पर तथा 1 गाय लाकर गौ-सेवा कर रहे हैं, प्रशासनिक कार्यालय का दौरा कर रहे हैं इसके अलावा नया क्या किया। पहले सरकार की ओर से कहा कि 60 दिन नही सौ दिन चाहिए, अब कह रहे हैं कि एक साल के बाद सरकार के फैसलों का असर दिखेगा

लोकत्रंत में जनता के फैसले का सम्मान करते हुए एक बात तो जानने का सभी को हक़ हैं कि आखिर सरकार किसके लिए काम कर रही हैं, कुछ चंद लोगों के लिए या प्रदेश की जनता के लिए। मथुरा में व्यापारी की गोली मारकर हत्या हो जाती हैं, उस घटना में भी किसी भाजपा नेता के होने की बात निकल रही है तथा प्रदेश सरकार इस पर चुप्पी साधे हुए हैं। पुलिसकर्मियों के साथ बदसुलूकी तो आम बात हो गयी, जनता द्वारा चुने गए जनप्रतिनिधि ही दुर्व्यवहार कर रहे हैं,अभी हाल ही में मुरादाबाद के भाजपा नगर अध्यक्ष ने थाने के अंदर घुसकर दरोगा अमित शर्मा के ऊपर धारदार हथियार से हमला कर दिया,वहीँ आगरा में RSS के लोगों ने दरोगा के घर में पथराव के साथ मार-पीट की । अभी तो दो माह में ही उत्तर प्रदेश अपराध के कारनामों से कराह रहा है तो आने वाले दिनों में क्या हाल होगा यह देखने वाली बात होगी।

भारतीय जनता पार्टी को प्रदेश की जनता ने बड़ा बहुमत देकर प्रदेश में बेहतर काम करने का अवसर प्रदान किया, लेकिन प्रदेश सरकार की नाकामियों ने यह बात साबित कर दिया कि दो माह क्या दो साल बाद भी हालात सुधरने वाले नहीं हैं। यह अलग बात हैं कि खुलकर कोई बोल नहीं रहा हैं लेकिन जनता अंदर ही अंदर कराहने लगी हैं, और जिस दिन जनता की यह आवाज़ खुलकर सुनाई पड़ने लगेगी उस दिन योगीराज और मोदी जी का असली चेहरा सामने आ जाएगा। गौरतलब है की मोदी जी भी अपनी तीसरी वर्षगांठ बना रहे हैं, जिसमे शामिल है – 500 से ज्यादा शहीद हुए जवान,करोड़ों की संख्या में बेरोजगार नौजवान जो आज तक मोदी जी के 2 करोड़ रोजगार देने के बात पकडे बैठे हैं,क्योटो बनता बनारस,स्मार्ट सिटी का मायजाल,सैकड़ों विदेशी दौरों के बाद भी निवेश के नाम पर शून्यता का हाथ लगना,अपनी रोटी की आवाज उठाने वाले BSF के जवान तेज बहादुर यादव की बर्खास्तगी,मोदी जी की डिग्री के साथ स्मृति ईरानी जी की डिग्री का सस्पेंस आदि बहुत साड़ी स्वर्णिम विशेषताएं हैं जिसकी वर्षगांठ भाजपा के लोग मना रहे हैं।

सुनील सिंह यादव (साजन) जी का फेसबुक पेज ये है,जिससे लाखों की संख्या में लोग इनसे जुड़े हुए हैं –  www.facebook.com/SunilSinghYadavUP

सुनील सिंह यादव (साजन) जी का ट्वीटर अकाउंट ये है, जिससे हजारों की संख्या में लोग इनसे जुड़े हुए हैं –www.twitter.com/sunilyadv_unnao