मोदी के सांसद पर दर्ज हुआ हत्या के प्रयास का मुकदमा, योगी की पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी !

0
7

जौनपुर, जंगलराज क्या होता है उसे देखना है तो योगी के उत्तर प्रदेश में आइए जहां जान से मारने के प्रयास करने वाले सांसद सत्ता के रौब में मजे से घूम रहे हैं और जिसकी हत्या की कोशिश की गयी उसे ही पकड़ने के लिए छापे मारे जा रहे हैं। मामला जौनपुर का है जहां के खुटहन थाना क्षेत्र के पिलकिछा गांव के निवासी राजीव कुमार यादव पुत्र धर्मराज यादव ने खुटहन थाने में तहरीर दिया था कि बीते 6 नवम्बर को खुटहन ब्लाक प्रमुख के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव था।

निर्धारित समय से एक घंटा पहले ब्लाक परिसर की पूर्व दिशा में अपने समर्थको के साथ निर्धारित समय की प्रतीक्षा में बैठा था। इसी समय प्रतापगढ़ के भाजपा समर्थित सांसद हरिबंश सिंह व सांसद पुत्र पूर्व ब्लाक प्रमुख रमेश सिंह, सांसद के भतीजे राना सिंह, अजीत सिंह पुत्रगण लालसाहब सिंह और क्षेत्र पंचायत सदस्य सूबेदार सिंह एक दर्जन गाड़ियों के काफिले के साथ आकर रूक गये। जिसमें से लगभग 20 असलहाधारी आपराधी कुछ क्षेत्र पंचायत सदस्यों को अपने प्रभाव में लेकर बैठे थे।

सांसद एवं परिवार के लोगो द्वारा ललकारने पर वाहनो पर बैठे सभी असलहाधारियों ने हम लोगो पर फायर करते हुए जान लेवा हमला किया। जिसके कारण वहां भगदड़ मच गया। हम लोग किसी तरह से जान बचाकर भागे। अन्यथा हम लोगो की हत्या हो सकती थी। उसके बाद कुछ सदस्यो को धमकी देते हुए अपने साथ उठा ले गये। उसमे कुछ लोग घायल भी हुए है।

राजीव की तहरीर पुलिस ने सांसद हरिबंश सिंह उनके पुत्र पूर्व ब्लाक प्रमुख रमेश सिंह भतीजे राना सिंह अजीत सिंह समेत कई लोगो के खिलाफ धारा 147 ,148, 149, 352, 307, 504, 506, 336, 323, 34, 427 और 7 के तहत मुकदमा दर्ज करके तफ्तीश शुरू कर दिया है।

पुलिस मुकदर्शक बनी हुयी है। ना ही कोई गिरफ्तारी की  दबाव डाल रही है। भाजपा सरकार के दबाव मे केवल समाजवादी के नेता कार्यकर्ताओ को परेशान किया जा रहा है। इसी मामलों मे फर्जी मुकदमा दर्ज हुआ है। सपा के पूर्व मंत्री ललई यादव पर पुलिस अपनी सक्रियता बड़ी लाजवाबी से दिखा कर दबिश पर दबिश दे रही। लेकिन सासद महोदय पर कोई कार्यवाही नही क्यो ? पुलिस एक पक्षीय कार्यवाही करना चाहती है। क्या यही न्याय है।

संजय यादव एडवोकेट ने कहा कि जिन धाराओं में विधायक ललई यादव के खिलाफ केस दर्ज है, उससे अधिक  धाराओं में सांसद हरिवंश सिंह और उनके पुत्र के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज है। लेकिन पुलिस उनकी गिरफ्तारी के लिए कोई प्रयास नहीं कर रही है। एक अधिवक्ता के घर पर छापे मार रही है। यह एक सम्मानित अधिवक्ता का अपमान हुआ है। मैं इस मामले को हाई कोर्ट में उठाऊंगा।

रिपोर्ट – जे पी यादव जौनपुर

Loading...