ममता का एैसा रूप देख लोगों के निकले आँसू,मौत के बाद भी मां की छाती से लिपटकर बच्चा दूध पीता रहा !

0
130
Loading...

 

दमोह : उत्तर प्रदेश के बुंदेलखंड से सटे दमोह में दिल को झकझोर देने वाली एक घटना सामने आई है। जिसे देखकर हर इंसान के जेहन में एक ही बात उतर रही है कि ‘हे नारी आप धन्य हो,आप अपना अपार कष्ट भूलकर भी अपने बेटे की भूख को शान्त करते-करते ही दुनियाँ को छोड़ कर चली गयी’ , “नारी तेरे कई स्वरूप, हर स्वरूप में एक रूप ममता का” । यह ममता का स्वरूप ही है कि ट्रेन से गिरने के बावजूद, एक मां अपने लाल की भूख मिटाने के लिए उसे अपनी छाती-से चिपका कर दूध पिलाती रही। हालांकि बाद में महिला की मौत हो गई लेकिन बच्चा इस बात से बेखबर होकर अपनी मां से लिपटकर दूध पीता रहा।

ह्रदय को विचलित करने वाली यह घटना मध्य प्रदेश के दमोह की :

दमोह में दिल को झकझोर देने वाली यह घटना 24 मई की सुबह की है,सुबह करीब 6 बजे वित्तमंत्री जयंत मलैया की मिल के समीप रेलवे फाटक से गुजरते लोगों की नजर करीब डेढ़ साल के एक बच्चे पर पड़ी। जहां बच्चा वहां पड़ी अपनी मां की छाती से लिपटकर दूध पी रहा था। स्थानीय लोगों ने जब नजदीक जाकर महिला को हिलाया-डुलाया, तो उनकी आंखें फटी रह गईं, क्योंकि महिला की मौत हो चुकी थी। लोगों की सूचना पर जीआरपी पुलिस और Forensic Science Laboratories की अधिकारी किरण सिंह मौके पर पहुंचीं।

मां की मौत से बेखबर बच्चा लिपटकर पी रहा था दूध :

पुलिस की प्रारंभिक जांच-पड़ताल से सामने आया कि संभवत: महिला किसी ट्रेन से उतरने के चक्कर में गिरी होगी,उसकी नाक और कान से निकले खून से अंदाजा लगाया गया कि हादसे के कारण उसे अंदरुनी चोटें आईं होंगी ।महिला ट्रेन से गिरने के कारण बेसुध हो गई होगी, जिससे बच्चा रोने लगा, जब महिला की थोड़ी-बहुत चेतना लौटी, तो उसने मदद की उम्मीद तक भूख-प्यास से बिलखते बच्चे को बिस्किट दिया और उसे छाती से चिपकाकर दूध पिलाने लगी। महिला के पास ही बिस्किट का पैकेट मिला है। हालांकि इसी दौरान महिला की मौत हो गई, बच्चा अपनी मां की मौत से बेखबर छाती से चिपका दूध पीते मिला। उसके हाथ में बिस्किट का टुकड़ा भी था।

माँ की मौत से बेखबर यह बच्चा, अस्पताल स्टाफ की गोद में खेलता हुआ 
Damoh

नहीं हो पाई महिला के शव की शिनाख्त :

बता दें कि अभी तक महिला के शव की शिनाख्त नहीं हो सकी है, महिला के पास से एक 500 का नोट और 70 रुपए मिले हैं। उसके पास मिले पर्स ऊपर टीकमगढ़ के ज्वैलर्स की दुकान का नाम लिखा हुआ है। जिसके आधार पर अंदाजा लगाया जा रहा है कि वो, टीकमगढ़ की होगी। महिला के पास से किसी ट्रेन का टिकट नहीं मिला है।

Loading...