मुलायम सिंह – अखिलेश मेरा बेटा है, जो कर रहा है, करने दो, जब अमर और शिवपाल नहीं होते है साथ

0
19
Loading...

नोएडा, समाजवादी पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने दिल्ली रवाना होने से पहले वो लखनऊ स्थित पार्टी कार्यालय पहुंचे और अपने कमरे में भाई शिवपाल के साथ कुछ देर बैठे। इसके बाद उन्होंने कार्यालय पर अपने नाम की और शिवपाल के नाम की नेमप्लेट लगवाई और कार्यालय पर ताला लगा के दिल्ली के लिए रवाना हो गए।

दिल्ली पहुंचने के बाद मुलायम सिंह यादव ने अपने आवास पर कार्यकर्ताओं के साथ मुलाकात में कई बातों को साफ करने की कोशिश की। मुलायम सिंह यादव ने अपने ही अंदाज में कार्यकर्ताओं से कहा कि अखिलेश मेरा बेटा है, जो कर रहा है, करने दो।

उन्होंने माना कि ज्यादातर विधायक अखिलेश के साथ हैं, उनके पास सिर्फ 6 विधायक हैं। लेकिन साथ ही कहा कि आप लोग समझ लीजिए कि पार्टी में कोई विवाद नहीं है। सब विवाद जल्द खत्म हो जाएंगे. मेरी बात हो गई है। पार्टी में कोई विवाद नहीं है।

मुलायम ने अखिलेश के लिए कहा कि अब ठीक है वो जो कर रहा है। देखते हैं, उससे कुछ बात करेंगे।
साइकिल के चिन्ह पर ही लड़ेंगे चुनाव।

इसके बाद अमर सिंह मुलायम के पास पहुंचे तो मुलायम ने अमर और शिवपाल की तारीफ करने लगे। उन्होंने कहा कि शिवपाल ने बहुत अच्छा काम किया है। आप सब जाओ और चुनाव की तैयारी करो साइकिल के चिन्ह पर ही चुनाव लड़ा जाएगा।

ध्यान देने वाली बात ये है कि ये बयान मुलायम सिंह यादव ने उस वक्त दिया जब उनके साथ ना तो अमर सिंह मौजूद थे और ना ही शिवपाल उनके साथ थे। क्या मुलायम सिंह यादव को अमर सिंह और शिवपाल ने अपने कब्जे में कर रखा है क्या वो उनके अनुसार ही काम कर रहे है। इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है की शाम को जब मुलायम सिंह यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की तब उनके साथ अमर सिंह और शिवपाल सिंह यादव उनके साथ मौजूद थे और उनके सुर भी बदले बदले नजर आ रहे थे। आज पहली बार प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मुलायम सिंह यादव ने लिखा लिखाया बयान पढ़ के सुना दिया।

Loading...