1992 का इतिहास दोहराने की तैयारी में BJP, 3000 ईंट लेकर अयोध्या पहुंचे BJP के मुस्लिम नेता

0
21
Loading...

लखनऊ, 6 दिसंबर 1992 को जब बाबरी मस्जिद गिराई गयी थी और राम मनीर बनाने के लिए हजारों की संख्या में कारसेवक अयोध्या पहुंचे थे तब उनकी अगुआई कमंडल यात्रा निकाल रहे बीजेपी नेता लाल कृष्णा आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, उमा भारती, विनय कटियार आदि कर रहे थे। एकबार फिर 1992 की याद ताजा हो रही है इस बार बीजेपी के मुस्लिम नेताओं ने अयोध्या की तरफ कुछ किया है। अभी तक सुप्रीम कोर्ट का कोई भी निर्णय नहीं आया है मगर बीजेपी के नेताओं में ये उतावलापन किस बात को लेकर है।

आज 21 अप्रैल गुरुवार की शाम को धर्मनगरी अयोध्या में बीजेपी के मुस्लिम नेता पहुंचे जिनकी अगुआई श्रीराम मंदिर निर्माण मुस्लिम कारसेवक मंच का अध्यक्ष और बीजेपी नेता आजम खान कर रहा था। ये नेता जुलूस की शक्ल में सड़क पर ‘मुसलमानों हक और ईमान के साथ आओ, श्रीराम मंदिर का निर्माण कराओ’ के नारे लगाने लगे।

ये नेता अपने साथ राम मंदिर निर्माण के लिए 3000 ईंटें लेकर अधिगृहीत परिसर में विराजमान रामलला का दर्शन करने जा रहे थे नेताओं के इस जत्थे को पुलिस ने रोक दिया। श्रीराम मंदिर निर्माण मुस्लिम कारसेवक मंच के सदस्य गुरुवार शाम छह बजे अयोध्या पहुंचे और यहां भव्य राम मंदिर निर्माण का संकल्प लेते हुए जय श्रीराम के नारे लगाए।

मंच के अध्यक्ष आजम खान ने बताया कि हम लखनऊ से आ रहे हैं। हमारा मकसद है राम मंदिर निर्माण। कोतवाल अरविंद कुमार पांडेय ने बताया कि मुस्लिम मंच के सदस्य बस्ती, महाराजगंज, गोरखपुर, लखनऊ आदि जगहों से आए थे।

मंदिर निर्माण में अपना सहयोग ईंटों के माध्यम से करना चाहते थे लेकिन मंदिर बंद होने की बात इनको बताई गई तो इन लोगों ने विहिप के लोगों से संपर्क साधा है।