योगी का रामराज्य – महिला न्यूज एंकर से बीच रोड छेड़छाड़, 4 दिन तक नहीं हुई कोई कार्यवाही !

0
1

 

लखनऊ, उत्तर प्रदेश में सत्ता संभालते ही योगी सरकार ने एंटी रोमियो स्क्वाड का ढिंढोरा खूब जोर शोर से पीटा गया। अब न तो एंटी रोमियो स्क्वाड दिखता है और न ही कहीं महिला सुरक्षा देखने को मिलती है। कामकाजी महिलाओं को आएदिन छेड़छाड़ का सामना करना पड़ता है। इससे महिला पत्रकार भी अछूती नहीं है। आगरा शहर के हरीपर्वत थानाक्षेत्र में 25 जनवरी को रात 10 बजे एक स्थानीय न्यूज चैनल की महिला न्यूज एंकर के साथ दो मनचलों ने छेड़छाड़ की।

यही नहीं वो लगातार महिला न्यूज एंकर का पीछा करते रहे। हिम्मत दिखाते हुए एंकर ने दोनों की फोटो खींच ली। बेखौफ मनचले भाग निकले। इसकी शिकायत लड़की ने वुमन पॉवर हेल्पलाइन पर की, लेकिन 4 दिन बीतने के बाद भी कुछ नहीं हुआ। मजबूरन लड़की ने FB पर पोस्ट कर अपना दर्द बयां किया। इसपर आईजी नवनीत सिकेरा ने ट्वीट कर एक्शन लेने के निर्देश आगरा पुलिस को दिए।

न्यूज एंकर दामिनी के मुताबिक, वो एक्टिवा से जा घर रही थी। तभी दो लड़कों ने सरेआम छेड़छाड़ शुरू कर दी। इसपर रास्ता बदलकर एमजी रोड की ओर एक्टिवा मोड़ दी। मनचले उसका पीछा करते रहे। सूरसदन चौराहा पहुंचते ही दामिनी ने हिम्मत करके एक्टिवा रोकी और मोबाइल निकालकर मनचलों की फोटो क्लिक कर ली। बेखौफ मनचलों ने हस्ते हुए पहले फोटो खिंचवाई फिर अपनी एक्टिवा का नंबर फर्जी बताते हुए भाग निकले।

दामिनी ने सरेराह छेड़छाड़ करने वाले मनचलों की शिकायत 1090 पर की, लेकिन 4 दिन बीतने के बाद भी कोई एक्शन नहीं लिया गया। दामिनी ने कहा मुझे लगा अगर मैं भी डर कर चुप हो जाउंगी तो बाकि लड़कियां भी हिम्मत नहीं कर पाएंगी। इसलिए मैंने 28 जनवरी को सोशल साइट्स का सहारा लिया।

इसके बाद ही आईजी नवनीत सिकेरा ने ट्विटर पर आगरा पुलिस को कार्यवाही के निर्देश दिए। तत्काल प्रभाव से 2 ऑपरेटरों को हटा दिया गया। साथ ही आगरा के एसएसपी अमित पाठक ने तत्काल हरीपर्वत को पुलिस को कार्यवाही के निर्देश दिए।

योगी के मंत्री को नहीं पता कासगंज में क्या हुआ, पत्रकारों से पूंछा आप ही बता दो, देखें कौन हैं मंत्री जी !

Loading...