दिल थाम कर रखिए जनाब 4 साल बाद आने वाले हैं अच्छे दिन, 90 रुपये तक हो सकते हैं पेट्रोल के दाम !

0
0

नई दिल्ली, पेट्रोल और डीजल के बढ़ते दामों ने आम आदमी की जेब पर डाका डालने का काम किया है। कर्नाटक चुनाव को देखते हुए 19 दिन तक सरकार द्वारा दामों पर अंकुश लगाने की वजह से तेल कंपनियों का मार्जिन बिगड़ गया है जिसके चलते तेल कंपनियां अब पेटोल और डीजल के दामों में बेहिसाब बढ़ोत्तरी कर रही हैं जिसकी मार आम जनता पर पड़ रही है।

कर्नाटक चुनाव में मतदान से पहले 19 दिन तक तेल कंपनियों ने पेट्रोल-डीजल के दाम नहीं बढ़ाए, लेकिन अब दाम बुलेट ट्रेन की रफ़्तार से बढ़ रहे हैं। पेट्रोल-डीजल के दामों में पिछले 4 हफ्तों में सबसे ज्यादा बढ़ोत्तरी देखने को मिली है। रविवार को दिल्ली में पेट्रोल 76.26 रुपए प्रति लीटर पर पहुंच गया। वहीं डीजल की कीमत 67.57 रुपए प्रति लीटर हो गई।

पेट्रोल की कीमतों ने दिल्ली में महंगाई का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। ऐसा पहली बार हुआ है कि दिल्ली में इतना महंगा पेट्रोल बिक रहा है। रविवार सुबह 6 बजे तेल कंपनियों की ओर से रेट लिस्ट जारी की गई। मुंबई में पेट्रोल की कीमत सबसे ज्यादा हैं। यहां 84.07 रुपए में पेट्रोल मिल रहा है। मुंबई के अलावा कई शहरों में पेट्रोल 80 रुपए से ज्यादा में बिक रहा है। भोपाल में (81.83 रुपये प्रति लीटर), पटना में (81.73 रुपये प्रति लीटर), हैदराबाद में (80.76 रुपये प्रति लीटर) और श्रीनगर में (80.35 रुपये प्रति लीटर) पेट्रोल की कीमत 80 रुपये से ज्यादा है। कोलकाता में 78.91 और चेन्नई में 79.13 रुपये में पेट्रोल की बिक्री हो रही है।

इसके अलावा डीजल की बात करें तो हैदराबाद में डीजल सबसे महंगा 73.45 रुपये प्रति लीटर में मिल रहा है। त्रिवेंद्रम में 73.34 रुपये में, इसके अलावा रायपुर, गांधीनगर, भुवनेश्वर, पटना, जयपुर, भोपाल, रांची और श्रीनगर समेत कई अन्य शहरों में डीजल की कीमत 70 रुपये प्रति लीटर से ज्यादा हो गई है। मुंबई में डीजल की कीमत 71.94 रुपये है।

जानकारी के अनुसार मध्यप्रदेश , छत्तीसगढ़, राजस्थान और उत्तर-पूर्व के 4 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। इन राज्यों में होने वाले चुनावों से पहले पेट्रोल और डीजल के दामों में कोई कमी होने की गुंजाइश नहीं दिख रही है। चुनावी मौसम में पेट्रोल डीजल के दामों में कमी करने का कार्ड खेलकर सरकार फायदा लेने की कोशिश करेगी। जिसके चलते तेल कंपनियां चुनाव से पहले मार्जिन बढ़ाना चाहती हैं जिससे आगे मैनेज कर सकें।

 

Loading...